ताज़ा खबर
 

दिल्ली मेरी दिल्ली: सिफारिश की दरकार

मुश्किल यह है कि दीक्षित पहले ही बीमारी से जूझ रही हैं। वह हाल में ही विदेश से आॅपरेशन करा के लौटी हैं जबकि माकन भी इलाज के लिए विदेश गए हैं।

Author September 24, 2018 3:33 AM
दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित और अजय माकन(फाइल फोटो)

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से अजय माकन के इस्तीफे की भनक लगने के बाद दिल्ली कांग्रेस के नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के दरबार में हाजिरी लगानी शुरू कर दी है। दिलचस्प यह है कि ये नेता प्रत्यक्ष तौर पर तो दीक्षित से अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभालने की बात कह रहे हैं, लेकिन साथ में यह भी कह रहे हैं कि अगर आप इस पद की इच्छुक नहीं हों तो हाईकमान में हमारे नाम की सिफारिश कर दें। दिल्ली कांग्रेस में फिलहाल दो ही बड़े चेहरे हैं- शीला दीक्षित व अजय माकन। मुश्किल यह है कि दीक्षित पहले ही बीमारी से जूझ रही हैं। वह हाल में ही विदेश से आॅपरेशन करा के लौटी हैं जबकि माकन भी इलाज के लिए विदेश गए हैं। ऐसे में इन दोनों नेताओं के बीमार हो जाने से दिल्ली कांग्रेस के लिए नए चेहरे की तलाश जारी है। ऐसे में दीक्षित के घर पर उन तमाम नेताओं का जमावड़ा हो रहा है जो अध्यक्ष बनने के इच्छुक हैं। अध्यक्ष पद की लाइन में लगे नेताओं में 70 पार के बुजुर्ग नेताओं से लेकर नौजवानों तक के नाम शामिल हैं।

आप नहीं तुम
चुनावों के मद्देनजर दिल्ली में राजनीतिक सरगर्मी शुरू हो चुकी है, ऐसे में कई दिलचस्प वाकये देखने को मिलना लाजमी है। हाल ही में आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने एक वीडियो ट्वीट कर कहा कि गर्व से कहो हम ‘आप’ हैं। पार्टी के कार्यकर्ताओं और उससे जुड़े लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए कही गई इस बात पर किसी ने बहुत दिलचस्प प्रतिक्रिया दी कि ‘अर्ज किया है… तुम मुझे तुम कहकर ही बुलाओ तो बेहतर है, ये ‘आप’ मुझे न जाने क्यों… केजरीवाल सा लगता है’।

मुसीबतों का महकमा
दिल्ली पुलिस को इन दिनों अपने ही महकमे के अधिकारियों की कारगुजारी से मुश्किलें झेलनी पड़ रही हैं। एक पुलिसवाले के बेटे के हाथों युवती की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद केंद्रीय गृहमंत्री को इस मामले में दखल देना पड़ा। हालांकि उनके ट्वीट के एक घंटे बाद ही पुलिस अधिकारियों ने आरोपी को दबोच लेने का दावा किया। पुलिस इस मामले को जैसे-तैसे सुलझाने में लगी थी कि उसके सामने एक नई मुसीबत आ गई। दिल्ली पुलिस के एक एसीपी पर विधवा से बलात्कार करने, उसकी बेटी को अगवा करने और उसके साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लग गया। मामला उजागर होने पर पुलिस के आला अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। पुलिस शातिर से शातिर अपराधियों को तो पकड़ सकती है, लेकिन अपने ही लोगों से पार पाना उसके लिए टेढ़ी खीर बन गया है।

ऊंची दुकान फीका पकवान
दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति के ‘ड्रीम प्रोजेक्ट’ दिल्ली स्कूल आॅफ जर्नलिज्म के छात्र इन दिनों भूख हड़ताल पर हैं। छात्रों का कहना हा कि डीयू उनके पांच वर्षीय पाठ्यक्रम के लिए फीस तो मनमानी वसूल रहा है, लेकिन विभाग में पुस्तकालय तक नहीं है, यानी ऊंची दुकान फीका पकवान। एक प्रोफेसर का कहना है कि जब कुलपति के ‘ड्रीम प्रोजेक्ट’ का यह हाल है तो समझ लीजिए बाकी के विश्वविद्यालय का क्या हाल होगा, जिस पर किसी की नजर नहीं है। प्रोफेसर ने कहा कि ढाई साल से डीयू में दाखिलों के अलावा और कुछ नया नहीं हो रहा है। उनका कहना है कि अगर कुछ नया हो तो उन्हें भी बताया जाए।

बेदिल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App