ताज़ा खबर
 

आईएएस ऑफिसर ने कराया टि्वटर पोल, पूछा- क्‍या पाक से परमाणु जंग के लिए तैयार हो

उन्‍होंने सर्वे में दो ऑप्‍शन दिए। पहला था, ''हां, हम तैयार हैं।'' दूसरा ऑप्‍शन था, ''नहीं, जिंदगी काफी कीमती है।'' यह पोल 18 सितम्‍बर को शुरू किया गया।

कश्‍मीर के उरी में सेना के बेस पर आतंकी हमले के बाद राजस्‍थान के आईएएस अधिकारी संजय दीक्षित ने परमाणु हमले के इस्‍तेमाल को लेकर सर्वे कराया।

कश्‍मीर के उरी में सेना के बेस पर आतंकी हमले के बाद राजस्‍थान के आईएएस अधिकारी संजय दीक्षित ने परमाणु हमले के इस्‍तेमाल को लेकर सर्वे कराया। इसमें उन्‍होंने लोगों से पूछा कि क्‍या भारतीय पाकिस्‍तान को खत्‍म करने के लिए परमाणु युद्ध के लिए तैयार हैं। उन्‍होंने साथ ही लिखा, ”इस प्रक्रिया में हममें से कई मर भी सकते हैं।” उन्‍होंने सर्वे में दो ऑप्‍शन दिए। पहला था, ”हां, हम तैयार हैं।” दूसरा ऑप्‍शन था, ”नहीं, जिंदगी काफी कीमती है।” यह पोल 18 सितम्‍बर को शुरू किया गया। सर्वे में ज्‍यादातर लोगों ने परमाणु युद्ध पर सहमति नहीं दी। 54 फीसदी वोटर्स ने कहा कि जिंदगी ज्‍यादा कीमती है। वहीं 46 फीसदी ने जंग का समर्थन किया।

हालांकि दीक्षित ने दावा किया कि 78 प्रतिशत लोगों ने जंग का समर्थन किया। साथ ही आरोप लगाया कि पाकिस्‍तानी लोग उन्‍हें गालियां दे रहे हैं। पाकिस्‍तानियों ने ही जिंदगी को अहमियत देने वाले विकल्प को चुना। वहीं संदीप दीक्षित के पोल के जवाब में एक पाकिस्‍तानी ब्‍लॉगर ने पोल कराया। पाकिस्‍तान के फरहान खान विर्क ने पोल कराया और लोगों से पूछा कि क्‍या वे शहीद होने के लिए तैयार हैं। उन्‍होंने ट्वीट किया, ”संजय दीक्षित के जवाब में पोल। यदि भारत पाकिस्‍तान को परमाणु युद्ध की धमकी देता है तो क्‍या आप बलिदान के लिए तैयार हैं। पहला ऑप्‍शन, हां, मैं शहीद होने को तैयार हूं। दूसरा, नहीं।” इसमें 81 प्रतिशत लोगों ने शहीद होने के पक्ष में वोट किया। केवल 19 प्रतिशत लोगों ने ही इसके उलट राय रखी।

भारतीय पत्रकार का दावा- पाकिस्‍तान ने प्रेस कांफ्रेंस से बाहर निकलवाया, कहा- इस इंडियन को निकालो

उरी हमला: सोशल मीडिया यूजर्स ने पीएम से पूछा- PAK पर कब होगी कार्रवाई, ये भी कहा- तुमसे न हो पाएगा

संदीप दीक्षित पाक से जंग को लेकर बाद में कई और पोल भी कराए। इनमें किस तरह के हथियार से पाक पर हमला किया जाए का पोल भी शामिल था। इसके अलावा एक अन्‍य पोल में पूछा कि हमला किस तरह से किया जाए। एक अन्‍य ट्वीट में उन्‍होंने लिखा कि भारत को 1960 में पाकिस्‍तान से नदियों के पानी को लेकर की गई संधि को तोड़ देना चाहिए। इस संधि के अनुसार भारत सिंधु, चिनाब और झेलम का ज्‍यादा पानी पाकिस्‍तान को देता है। वहीं व्‍यास, रावी और सतलज का ज्‍यादा हिस्‍सा उसे मिलता है।

दो बेटों को देश पर कुर्बान कर चुके बूढ़े दृष्टिहीन पिता बोले- अब भी इतनी ताकत है कि पाकिस्‍तान से बदला ले सकता हूं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App