ताज़ा खबर
 

सचिन ने दिया था करारा जवाब लेकिन नहीं सुधरे चैपल, अब बोले-वन डे क्रिकेट से धोनी के दिन खत्‍म

चैपल ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो में अपने कॉलम में लिखा है, ‘‘कप्तानों का प्रभाव कुछ निश्चित समय तक होता है जिसके बाद टीम के प्रदर्शन पर उनका प्रभाव खत्म हो जाता है और और उनकी उपस्थिति से टीम को नुकसान पहुंचता है। ''

Author सिडनी | January 24, 2016 4:29 PM
महेंद्र सिंह धोनी ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पांचवें और आखिरी वनडे में उपयोगी पारी खेली थी।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल का मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी भारत के सीमित ओवरों के कप्तान के रूप में जरूरत से ज्यादा समय तक बने रह गये हैं और इसका भारतीय टीम पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। चैपल ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो में अपने कॉलम में लिखा है, ‘‘कप्तानों का प्रभाव कुछ निश्चित समय तक होता है जिसके बाद टीम के प्रदर्शन पर उनका प्रभाव खत्म हो जाता है और और उनकी उपस्थिति से टीम को नुकसान पहुंचता है। महेंद्र सिंह धोनी इस स्थिति में कुछ समय पहले पहुंच गये थे। वर्तमान भारतीय टीम को नये विचारों और उत्साह की सख्त जरूरत है। जब विरोधी टीम चार वनडे पारियों में लगभग 1300 रन बना रही हो तो इसके लिये केवल सपाट पिचों और लचर गेंदबाजी को ही जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।’’ चैपल का मानना है कि भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली टीम में नया जोश ला सकते हैं जैसा कि वह लंबी अवधि के प्रारूप में साबित कर चुके हैं। चैपल ने कहा, ‘‘जब धोनी ने शुरूआत की थी तो वह सभी प्रारूपों में बेहद चतुर कप्तान थे और उन्हें खूब सफलताएं मिली। लेकिन जब कोई कप्तान अपने समय से अधिक पद पर बना रहता है तो उसका टीम पर गलत प्रभाव पड़ता है।’’

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25900 MRP ₹ 29500 -12%
    ₹3750 Cashback
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24990 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹3750 Cashback

सचिन ने दिया था करारा जवाब
चैपल वहीं शख्‍स हैं, जिन्‍होंने कॉलम लिखकर सचिन को भी वनडे से रिटायरमेंट लेने की सलाह दी थी। चैपल ने सचिन को आईना देखने की सलाह देते हुए कहा था कि वे क्रिकेट में अपना वक्‍त बर्बाद कर रहे हैं और उन्‍हें तुरंत रिटायर हो जाना चाहिए। सचिन ऐसे क्रिकेटर रहे हैं, जो बयानों से ज्‍यादा बल्‍ले से जवाब देने में भरोसा रखते थे। सचिन ने एक इंटरव्यू में कहा था, ”मैं उनके (इयान चैपल) बारे में ज्‍यादा नहीं सोचता। मैंने उन्‍हें 2007 में ऑस्‍ट्रेलिया में हुए वीबी सीरीज में बड़े साइज का आईना दिखाया था। इसलिए मुझे किसी के पास जाकर कुछ साबित करने की जरूरत नहीं है। उनका भारतीय क्रिकेट से कोई लेनादेना नहीं है।” बता दें कि सचिन ने वीबी सीरीज के फाइनल मैच में सेंचुरी मारी थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App