ताज़ा खबर
 

ICC World T20: श्रीलंका को फतह कर इंग्लैंड सेमीफाइनल में

इंग्लैंड ने चार मैच में से तीन जीते हैं। छह अंकों के साथ वह लीग में दूसरे स्थान पर है।

Author नई दिल्ली | Published on: March 26, 2016 11:46 PM
इंग्लैंड टीम के खिलाड़ी। (पीटीआई फोटो)

इंग्लैंड की टीम विश्व कप टी 20 के सेमीफाइनल में पहुंच गई है। शनिवार को उसने रोमांचक मुकाबले में श्रीलंकाई पारी को 161 रनों पर थाम कर दस रन से जीत दर्ज की और अंतिम चार में जगह पक्की की। इस नतीजे से श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के अंतिम चार में पहुंचने की उम्मीदों पर पानी फिर गया और दोनों टीमें खिताबी दौड़ से बाहर हो गर्इं। इस ग्रुप से सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली दूसरी टीम वेस्ट इंडीज है। इंग्लैंड ने चार मैच में से तीन जीते हैं। छह अंकों के साथ वह लीग में दूसरे स्थान पर है। श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका दोनों के तीन मैचों में केवल दो-दो अंक हैं।

जीत के लिए 172 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंकाई पारी शुरू में ही लड़खड़ा गई थी और उसके चार बल्लेबाज सिर्फ 15 रनों के स्कोर पर पैवेलियन लौट गए थे। तब श्रीलंका बैकफुट पर थी और इंग्लैंड के गेंदबाजों ने दबाव बनाए रखा था। लेकिन यहां से कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने कप्तानी पारी खेली और टीम को जीत के बहुत करीब तक ले गए। पांचवें विकेट के लिए उन्होंने चमारा कापुगेदारा के साथ 80 रनों की साझेदारी निभा कर इंग्लैंड के जबड़े से जीत लगभग छीन ले गए थे लेकिन दबाव में पुछल्ले बल्लेबाजों ने कप्तान का साथ नहीं दिया और इंग्लैंड ने पहले चमारा कापुगेदारा को आउट कर खतरनाक होती साझेदारी को तोड़ा और फिर निचले क्रम के बल्लेबाज कप्तान का साथ नहीं दे पाए। मैथ्यूज ने 54 गेंदों पर तीन चौकों व पांच छक्कों की मदद से 73 रन बनाए और नाटआउट रहे। क्रिस जोर्डन ने करिअर की शानदार गेंदबाजी करते हुए 28 रन देकर चार विकेट लिए।

टॉस गंवाने के बाद इंग्लैंड ने जोस बटलर की तूफानी पारी की मदद से चार विकेट पर 171 रन बनाए थे। लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका की शुरुआत बेहद खराब रही। पहले तीन ओवर में ही उसके चार खिलाड़ी पैवेलियन लौट गए। तब स्कोर बोर्ड पर महज 15 रन टंगे थे। तब श्रीलंका पर करारी हार का खतरा मंडला रहा था। लेकिन यहां से मैथ्यूज और कापुगेदारा ने पारी को संभाला। ओपनर तिलकरत्ने दिलशान और दिनेश चंदीमल पहले दो ओवरों में पवेलियन लौट गए। दिलशान डेविड विली की शार्ट पिच गेंद को हवा में लहरा कर कैच दे बैठे तो अगले ओवर में विली ने मिलिंदा श्रीवर्धना को भी कैच कराया। इस बीच गफलत का शिकार होकर लाहिरू तिरिमाने रन आउट हो गए। तब मैथ्यूज ने कापुगेदारा के साथ पारी संवारा। उन्होंने लेग स्पिनर आदिल राशिद को निशाना बनाया। मैथ्यूज ने राशिद पर तीन छक्के जड़ कर टीम पर से दबाव हटाया। 30 रन के निजी स्कोर पर मोर्गन ने मैथ्यूज का कैच टपकाया। तब गेंदबाज थे बेन स्टोक्स। दोनों खतरनाक दिख रहे थे लनिक तभी लियाम प्लंकेट के अगले ओवर में स्टोक्स ने डीप मिडविकेट पर उनका अच्छा कैच लेकर यह साझेदारी तोड़ी। उनका स्थान लेने के लिए उतरे तिसारा परेरा ने आते ही मोईन अली पर छक्का जड़ा।

श्रीलंका को आखिरी पांच ओवर में 61 रन चाहिए थे। मैथ्यूज ने मोईन पर लांग आन और मिडविकेट पर छक्के जड़कर दर्शकों को रोमांचित किया तो परेरा ने भी एक गेंद छह रन के लिए भेजकर इस ओवर में 21 रन जुटाने में अपना योगदान दिया। परेरा ने हालांकि जोर्डन की गेंद पर मिड आफ पर सीधा कैच थमा दिया और फिर आखिरी तीन ओवर में 34 रन के लक्ष्य से श्रीलंका के लिये स्थिति मुश्किल हो गई। मैथ्यूज ने पुछल्ले बल्लेबाजों से मिल कर टीम को जीत दिलाने की कोशिश की लेकिन टीम 161 पर ही थम गई। स्टोक्स के आखरी ओवर में 15 रन बनाने थे लेकिन मैथ्यूज चार रन ही बना सके।

इससे पहले इंग्लैंड ने अंतिम मैच में टास गंवाने के बाद बल्लेबाजी करते हुए उसने चार विकेट पर 171 रन बनाए। जोस बटलर ने बेहतरीन लप्पेबाजी की और टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाया। बटलर ने सिर्फ 37 गेंदों पर 66 रन ठोक डाले। इसमें उन्होंने आठ चौके व दो छक्के लगाए। दो दिन पहले अफगानिस्तान के खिलाफ धीमी पिच पर इंग्लैंड की बल्लेबाजी चरमरा गई थी लेकिन शनिवार को इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। बटलर ने कप्तान मोर्गन के साथ चौथे विकेट के लिए 74 रनों की साझेदारी कर टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाया। इंग्लैंड की शुरुआत ठीक नहीं रही। स्पिनर रंगना हेराथ ने दूसरे ओवर में ही एलेक्स हेल्स को एलबीडब्लू आउट करके इंग्लैंड को परेशानी में डाले।

लेकिन इसके बाद फॉर्म में चल रहे जैसन राय और जो रूट ने टीम को संकट से उबारा और बड़े स्कोर की बुनियाद रखी। दोनों ने आसानी से रन बटोरे और श्रीलंकाई गेंदबाजों को हावी होने का मौका नहीं दिया। पावरप्ले खत्म हुआ तो इंग्लेंड का स्कोर एक विकेट पर 38 रन था। राय ने इसके बाद श्रीवर्धना और हेराथ पर बेहतरीन छक्के लगाए। इसमें उनकी पावर और कौशल दोनों का मिश्रण दिखा। श्रीलंका के गेंदबाजों ने डेथ ओवरों का जिम्मा संभाला लेकिन उनका अपनी गेंदों पर नियंत्रण नहीं था। पंद्रह ओवर तक स्कोर तीन विकेट पर 99 रन था और लग रहा था कि श्रीलंका इंग्लैंड को बड़े स्कोर से रोक देगी। लेकिन इसके बाद बटलर ने मोर्चा संभाला और जबर्दस्त लप्पेबाजी की। आखरी पांच ओवर में इंग्लैंड ने 72 रन बनाए।

स्कोर बोर्ड

इंग्लैंड: जैसन राय एलबीडब्लू बो वंडारसे 42, एलेक्स हेल्स एलबीडब्लू बो हेराथ 0, जो रू ट का तिरिमाने बो वंडारसे 25, जोस बटलर नाटआउट 66, इयोन मोर्गन रन आउट 22, बेन स्टोक्स नॉटआउट 6, अतिरिक्त 10, कुल (चार विकेट पर) : 171 रन।

विकेट पतन : 1-4, 2-65, 3-88, 4-162
गेंदबाजी: मैथ्यूज 4-0-25-0, हेराथ 4-1-27-1, वंडारसे 4-0-27-2, श्रीवर्धना 1-0-9-0, चमीरा 4-0-34-0, परेरा 2-0-27-0, शनाका 1-0-15-0

श्रीलंका : दिनेश चंदीमल का बटलर बो जोर्डन 1, तिलकरत्ने दिलशान का हेल्स बो विली 2, मिलिंदा श्रीवर्धना का मोर्गन बो विली 7, लाहिरू तिरिमाने रन आउट 3, एंजेलो मैथ्यूज नाटआउट 73, चमारा कापुगेदारा का स्टोक्स बो प्लंकेट 30, तिसारा परेरा का विली बो जोर्डन 20, दासुन शनाका का रूट बो जोर्डन 15, रंगना हेराथ बो जोर्डन 1, जेफ्री वंडारसे नॉटआउट 0, अतिरिक्त 9, कुल (आठ विकेट पर) : 161 रन।

विकेट पतन : 1-3, 2-4, 3-15, 4-15, 5-95, 6-137, 7-155, 8-158
गेंदबाजी: विली 4-0-26-2, जोर्डन 4-0-28-4, प्लंकेट 4-0-23-1, स्टोक्स 4-0-19-0, राशिद 2-0-31-0, मोईन 2-0-32-0

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories