ताज़ा खबर
 

केरल में एलडीएफ की जुलूस में फेंका गया बम, एक की मौत, बंगाल में TMC सदस्‍यों ने की आगजनी

केरल के कन्‍नूर जिले में एलडीएफ के विजय जुलूस पर फेंका गया बम। सीपीएम कार्यकर्ता की मौत।

Author नई दिल्‍ली | May 19, 2016 18:45 pm
तृणमूल कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर सीपीएम दफ्तर में आगजनी और तोड़फोड़ की।

पांच राज्‍यों में हुए विधानसभा चुनावों के गुरुवार को आए नतीजों में पश्‍च‍िम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को अभूतपूर्व जनमत हासिल हुआ है। रुझानों में शुरुआत से ही तृणमूल आगे थी। जैसे जैसे रुझान नतीजों में तब्‍दील होते गए, वैसे-वैसे तृणमूल कार्यकर्ताओं का जश्‍न बढ़ता गया। हालांकि, इस जश्‍न के दौरान हिंसा का मामला भी सामने आया। तृणमूल समर्थकों ने कथित तौर पर पश्‍च‍िम बंगाल के आसानसोल में सीपीएम दफ्तर में न केवल तोड़फोड़ की, बल्‍क‍ि आग भी लगा दी। न्‍यूज एजेंसी एएनआई ने घटना की तस्‍वीरें ट्वीट की हैं। (चुनाव 2016 से जुड़ी हर अहम खबर पढ़ने के लिए क्‍ल‍िक करें)

READ ALSO: छह बार हार कर जीते 87 साल के राजागोपाल, बने केरल में भाजपा के पहले निर्वाचित जनप्रतिनिधि 

दूसरी ओर, केरल के कन्‍नूर जिले स्‍थ‍ित पिनारायी में एलडीएफ की विजय रैली में बम फेंके जाने के बाद एक शख्‍स की मौत हो गई। शुरुआती मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मारे जाने वाला शख्‍स सीपीएम कार्यकर्ता था। घटना में चार लोग घायल हो गए। सीपीएम ने इस वारदात के लिए आरएसएस को जिम्‍मेदार ठहराया है।

READ ALSO: 53 फीसदी वोटर्स पर फोकस कर 52 साल के कुंवारे सर्बानंद सोनोवाल ने किया असम का सीएम बनने का रास्‍ता साफ 

READ ALSO: पुत्र प्रेम ने गोगोई को हराया? 2011 में जिसे लगाई थी लताड़, वही हेमंत बिस्‍व सर्मा बने BJP की जीत के सूत्रधार

 

ममता ने कांग्रेस और लेफ्ट पर हिंसा का लगाया आरोप

उधर, तृणमूल कांग्रेस को दूसरे कार्यकाल के लिए भी अपार बहुमत मिलने की स्थिति में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि माकपा और कांग्रेस का मिलकर चुनाव लड़ना दोनों ही दलों के लिए बड़ी भूल थी। उन्होंने विपक्ष पर सत्ता हासिल करने के लिए झूठ का जाल बुनने का आरोप लगाया। राज्य की जनता का शुक्रिया अदा करते हुए ममता ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान प्रदेश की राजनीति ऐतिहासिक रूप से निचले स्तर पर चली गयी और सार्वजनिक रूप से मर्यादा बनाये रखने के लिए एक ‘लक्ष्मण रेखा’ निर्धारित होनी चाहिए। ममता ने कहा, ‘संयुक्त विपक्ष की हिंसा के बावजूद अभूतपूर्व जीत हुई। मैं तृणमूल कांग्रेस में भरोसा जताने के लिए तहेदिल से राज्य की जनता का शुक्रिया अदा करती हूं। विपक्ष ने झूठ का जाल बुना था जिसे खारिज कर दिया गया।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App