ताज़ा खबर
 

ब्रेड, बन, बर्गर और पिज्‍जा के 84 प्रतिशत सैंपल्‍स में मिले कैंसर पैदा करने वाले तत्‍व: CSE Study

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट(सीएसई) की जांच में देश में मौजूद 32 मशहूर ब्रेड के 84 प्रतिशत सैंपल्‍स में कैंसर पैदा करने वाले तत्‍व पाए गए हैं।
प्रतीकात्मक फोटो। (Source: Agencies)

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट(सीएसई) की जांच में ब्रेड में कैंसर पैदा करने वाले तत्‍व पाए गए हैं। सीएसई की जांच के अनुसार ब्रेड, बन, रेडी टू ईट बर्गर और पिज्‍जा के 38 लोकप्रिय ब्रांड में से 80 प्रतिशत में पोटेशियम ब्रोमेट और आयोडेट पाया गया। पोटेशियम ब्रोमेटतत्‍व कैंसरकारक है जबकि आयोडेट से थायराइड की बीमारियां होती हैं। जांच के अनुसार ब्रेड के भारतीय उत्‍पादक आटे में पोटेशियम ब्रोमेट और आयोडेट का इस्‍तेमाल करते हैं।

सीएसई की ओर से जारी बयान के अनुसार, ”कई देशों में इन तत्‍वों का ब्रेड बनाने में इस्‍तेमाल प्रतिबंधित हैं। ये तत्‍व स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हैं। लेकिन भारत में इनके प्रयोग पर प्रतिबंध नहीं है। हमने 84 प्रतिशत सैंपल्‍स में पोटेशियम ब्रोमेट या आयोडेट पाया। हमने इन सैंपल्‍स के लेबल की जांच की और इन मामलों के जानकारों और निर्माताओं से बात की।” यह जांच सीएसई की पॉल्‍यूशन मॉनिटरिंग लेबोरेटरी ने की।

Read Alsoकोर्ट ने माना जॉनसन एंड जॉनसन के पाउडर से होता है कैंसर, लगाया 365 करोड़ रुपये का जुर्माना

सीएसई ने पोटेशियम ब्रोमेट और आयोडेट के इस्‍तेमाल पर तुरंत रोक की मांग की है। पोटेशियम ब्रोमेट यूरोपियन संघ, कनाडा, ऑस्‍ट्रेलिया, न्‍यूजीलैंड, चीन, श्रीलंका, ब्राजील, नाइजीरिया, पेरु और कोलंबिया में प्रतिबंधित है। जांच के अनुसार ब्रेड निर्माता लेबल पर इन तत्‍वों के बारे में लिखते भी नहीं हैं। रिपोट के सामने आने के बाद स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जेपी नड्डा ने जांच का आश्‍वासन दिया है।

Read Alsoधूम्रपान छोड़ने के 15 साल बाद भी हो सकता है कैंसर, रिपोर्ट में खुलासा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.