ताज़ा खबर
 

असम में सरकार बनाने के बाद गुवाहाटी नगर निगम में भी BJP को मिली जीत, कांग्रेस अल्‍पमत में

विधानसभा चुनावों में जीत हासिल करने के बाद भाजपा ने गुवाहाटी नगर निगम चुनाव में जीत दर्ज की है। अब उसकी नजर एनसी काउंसिल पर है।

मृगेन सरानिया को बिना लड़े ही मेयर चुन लिया गया। नीलाक्षी कालिता मेधी को बिना किसी विरोध के नया डिप्‍टी मेयर चुन लिया गया है। (GMC)

असम में सरकार बनाने के बाद भारतीय जनता पार्टी ने प्रतिष्ठित गुवाहाटी नगर निगम (GMC) के चुनाव में भी जीत हासिल की है। भाजपा पार्षद मृगेन सरानिया को शहर का नया मेयर चुना गया है।

कांग्रेस ने दो साल पहले जीएमसी का चुनाव जीता था, मगर उसके एक पार्षद नीलाक्षी तालुकदार ने विधानसभा चुनावों के दौरान पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया था। तालुकदार के इस्‍तीफे के बाद 30 सदस्‍यीय निगम में कांग्रेस की ताकत घटकर 15 रह गई थी। बीजेपी भी 15 सदस्‍यों के साथ बराबरी पर आ गई थी। विधानसभा चुनावों में बीजेपी और असम गण परिषद द्वारा शहर की चार सीट जीतने के बाद कांग्रेस अल्‍पमत में आ गई क्‍योंकि चारों विधायक और गुवाहाटी सांसद के पास निगम में एक-एक वोट रहता है।

Read also: खडसे का कराची कनेक्‍शन: पाकिस्‍तान से आए डॉक्‍टर साहब बन गए BJP MLC, हर मुसीबत में आते हैं काम

मृगेन सरानिया को बिना लड़े ही मेयर चुन लिया गया। नीलाक्षी कालिता मेधी को बिना किसी विरोध के नया डिप्‍टी मेयर चुन लिया गया है। चुनाव के दौरान वरिष्‍ठ विधायक और मंत्री हेमंत बिश्‍व शर्मा भी मौजूद थे। वे शहर की जालुकबाड़ी विधानसभा सीट से विधायक हैं।

हेमंत बिश्‍व शर्मा ने कहा कि भाजपा जल्‍द ही एनसी हिल्‍स काउंसिल पर भी फतह हासिल करेगी। काउंसिल को चला रही कांग्रेस 26 मई को उस वक्‍त अल्‍पमत में आ गई थी जब उसके 6 सदस्‍यों ने भाजपा ज्‍वाइन कर ली थी। जिसके बाद 30 सदस्‍यीय सदन में भाजपा सदस्‍यों की संख्‍या 18 हो गई है। कांग्रेस के बाकी नौ सदस्‍यों ने असम गण परिषद का दामन थाम लिया जो कि बीजेपी की सहयोगी है। दोनों के गठबंधन के पास अब इस सदन में कुल 27 सदस्‍य हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App