ताज़ा खबर
 

अजलन शाह: भारतीय टीम न्यूजीलैंड से हारी, फाइनल में पहुंचने के लिये मलेशिया को हराना जरूरी

ऑस्ट्रेलिया लगातार चार जीत के साथ 12 अंक लेकर शीर्ष पर है। न्यूजीलैंड के छह मैचों में 11 अंक है जबकि भारत के पांच मैचों में नौ अंक है।

Author इपोह (मलेशिया) | April 13, 2016 7:26 PM
हॉकी इंडिया फाइल फोटो

भारतीय टीम बुधवार (13 अप्रैल) को 25वें अजलन शाह कप हॉकी टूर्नामेंट के राउंड राबिन मैच में न्यूजीलैंड से 1-2 से हार गई जिससे फाइनल में प्रवेश की उसकी उम्मीदों को करारा झटका लगा। गत चैम्पियन न्यूजीलैंड के लिये केन रसेल (28वां मिनट) और निक विल्सन (41वां मिनट) ने गोल किये जबकि भारत के लिये एकमात्र गोल मनदीप सिंह ने 36वें मिनट में दागा। विल्सन ने विजयी गोल भारतीय डिफेंडरों की गलती का फायदा उठाकर किया जो अपने ही सर्कल में गेंद को बाहर नहीं कर सके। भारतीय गोलकीपर ने गोललाइन से रिवर्स शॉट मिडफील्ड की तरफ भेजा। डिफेंडर हरमनप्रीत गेंद को रोक नहीं सके और विल्सन ने आसान गोल दाग दिया।

भारत अगर जीत जाता तो फाइनल में पहुंच जाता जबकि ड्रा से भी वह न्यूजीलैंड से आगे रहता लेकिन अब न्यूजीलैंड टीम दूसरे स्थान पर है। भारत अभी भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल में पहुंच सकता है अगर उसने आखिरी राउंड राबिन मैच में मलेशिया को हरा दिया। भारत के हारने पर न्यूजीलैंड टीम फाइनल खेलेगी। ऑस्ट्रेलिया लगातार चार जीत के साथ 12 अंक लेकर शीर्ष पर है। न्यूजीलैंड के छह मैचों में 11 अंक है जबकि भारत के पांच मैचों में नौ अंक है।

भारत को मैच से पहले गोलकीपर बदलना पड़ा क्योंकि आकाश चिकते को सीने पर गेंद लग गई थी और टीम प्रबंधन कोई जोखिम नहीं लेना चाहता था। हरजोत सिंह ने भारत के लिये गोलकीपिंग की। भारत को पहला पेनल्टी कॉर्नर 20वें मिनट में मिला और न्यूजीलैंड के गोलकीपर डेवोन मैनचेस्टर ने रूपिंदर पाल सिंह की ड्रैग फ्लिक को बखूबी बचाया।

केन रसेल ने 28वें मिनट में न्यूजीलैंड के लिये पेनल्टी कॉर्नर पर पहला गोल किया। भारत ने जवाबी हमले तेज कर दिये जिस पर तलविंदर सिंह से गेंद लेकर मनदीप ने गोल किया। इसके चार मिनट बाद स्ट्राइकर एस वी सुनील सर्कल के भीतर गेंद के साथ अकेले थे लेकिन गेंद को गोल के भीतर नहीं डाल सके। अगले मिनट विल्सन ने भारत के खराब डिफेंस का फायदा उठाकर विजयी गोल किया। भारत ने दूसरे हाफ में दो पेनल्टी कॉर्नर बेकार किये।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App