ताज़ा खबर
 

पत्रकार ने धोनी संग बिताए पलों को किया साझा, धोनी ने साथ बिठाकर ली थी चुटकी

इस घटनाक्रम का जिक्र करते हुए फेरिस ने कहा, ‘‘मुझे मंच पर उनके ( धोनी ) साथ बैठने का न्योता मिला। पहले तो मैंने नम्रता से नामंजूर कर दिया लेकिन उन्होंने आने के लिये कहा। मैं कौन होता हूं जो भारत के सर्वकालिक महान कप्तान का न्यौता ठुकरा दूं। ’’

Author मुंबई | April 1, 2016 15:55 pm
फेरिस ने ‘क्रिकेट.काम.एयू’ वेबसाइट पर अपना अनुभव लिखा है।

महेंद्र सिंह धोनी से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी भविष्य की योजनाओं को लेकर सवाल करने से उनकी व्यंग्य बाण झेलने वाले आस्ट्रेलियाई पत्रकार सैफ फेरिस ने भारतीय कप्तान के साथ मंच साझा करने के अपने अनुभवों को साझा किया है।  धोनी ने क्रिकेट आस्ट्रेलिया के रिपोर्टर फेरिस को अपने पास बैठने के लिये बुलाया क्योंकि उन्होंने पूछ दिया था कि भारत के वेस्टइंडीज से हारने के कारण विश्व टी20 से बाहर होने के बाद क्या वह संन्यास लेने जा रहे हैं।

फेरिस ने ‘क्रिकेट.काम.एयू’ वेबसाइट पर लिखा, ‘‘यदि आप मुझसे कहते कि विश्व टी20 सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज की जीत के बाद मुझे संवाददाता सम्मेलन में भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ बैठने का मौका मिलेगा और देश के हर टीवी समाचार बुलेटिन पर मेरी खबर होगी तो मैं तपाक से आपको पागल कहता। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह आम सवाल था। धोनी ने एमसीजी में 2014 में बाक्सिंग डे टेस्ट के बाद जब टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा करके दुनिया को चौंका दिया तथा तब वहां हर कोई हैरान था।’’ पत्रकार ने कहा, ‘‘इसको ध्यान में रखते हुए मुझे लगा कि उनसे फिर से पूछा जाना चाहिए कि क्या वह सीमित ओवरों की क्रिकेट से संन्यास लेने जा रहे हैं। और ऐसा भी नहीं है कि इस 34 वर्षीय ने सीमित ओवरों की क्रिकेट में कुछ हासिल नहीं किया हो।

READ ALSO: Video WI से हारने के बाद रिटायरमेंट के सवाल पर कैप्टन कूल धोनी ने कुछ इस अंदाज में ली पत्रकार की क्लास 

उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में पहला विश्व टी20 2007 का खिताब जीता, विजयी रन बनाये, वह भी छक्के से कम नहीं। अपनी धरती पर 2011 में 50 ओवरों का विश्व कप जीता और इंग्लैंड में 2013 में चैंपियन्स ट्राफी जीतकर हैट्रिक पूरी की। ’’ इस घटनाक्रम का जिक्र करते हुए फेरिस ने कहा, ‘‘मुझे मंच पर उनके ( धोनी ) साथ बैठने का न्योता मिला। पहले तो मैंने नम्रता से नामंजूर कर दिया लेकिन उन्होंने आने के लिये कहा। मैं कौन होता हूं जो भारत के सर्वकालिक महान कप्तान का न्यौता ठुकरा दूं। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा जोरदार स्वागत किया गया, सहानुभूतिपूर्वक मेरे कंधे पर हाथ रखा और कुटिल मुस्कान बिखेरी, ऐसी ही मुस्कान मैंने भारतीय टेलीविजन पर धोनी से जुड़े कई उत्पादों के विज्ञापन में देखी है। ’’ पत्रकार ने कहा, ‘‘धोनी इस सवाल को पसंद नहीं करता और वह उस भारतीय पत्रकार की खबर लेने के लिये तैयार था जो उनसे यह सवाल करता। हालांकि मैंने गलत अस्त्र से गोली दागी लेकिन लगता है कि मैंने अपने भारतीय साथियों से गोली छीन ली। ’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App