ताज़ा खबर
 

नौकरी चपरासी की, औकात सौ करोड़ से भी ज्‍यादा, पकड़ाया तो हुए चौंकाने वाले खुलासे

एसीबी ने कुल छह जगह रेड मारी। जहां से दो किलो सोना, सात किलो चांदी, 7.70 लाख रुपए नकद, पचास एकड़ से ज्यादा जमीन, 17 मकान के अलावा पेंटहाउस के बारे में भी जानकारी मिली है।

छापेमारी के दौरान जब्त की गई करोड़ों रुपए की संपत्ति ने एसीबी को सकते में डाल दिया है। अधिकारियों को दस्तावेजों से यह भी पता चला है कि आरोपी ने एक करोड़ रुपए का जीवन बीमा के अलावा, दस लाख और बीस लाख की एलआईसी पॉलिसी भी ले रखी है। (एक्सप्रेस फोटो)

आंध्र प्रदेश में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने एक आवास में छापा मारकर करीब 100 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ एक शख्स के गिरफ्तार किया है। आरोपी शख्स सरकारी चपरासी है, जिसकी पहचान के. नरसिम्हा रेड्डी के रूप में की गई है। वह राज्य के नेल्लोर में उप परिवहन आयुक्त (डीटीसी) में एक चपरासी के रूप में काम करता है। दरअसल सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक एसीबी ने नरसिम्हा रेड्डी से जुड़े आवासों पर छापेमारी की।

जहां सोने और हीरों की जूलरी के अलावा कई करोड़ रुपए के आभूषण भी बरामद किए गए। एसीबी ने कुल छह जगह रेड मारी। जहां से दो किलो सोना, सात किलो चांदी, 7.70 लाख रुपए नकद, पचास एकड़ से ज्यादा जमीन, 17 मकान के अलावा पेंटहाउस के बारे में भी जानकारी मिली है।

रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी का मासिक वेतन महज चालीस हजार रुपए है। हालांकि छापेमारी के दौरान जब्त की गई करोड़ों रुपए की संपत्ति ने एसीबी को सकते में डाल दिया है। अधिकारियों को दस्तावेजों से यह भी पता चला है कि आरोपी ने एक करोड़ रुपए का जीवन बीमा के अलावा, दस लाख और बीस लाख की एलआईसी पॉलिसी भी ले रखी है। जांच कर रहे अधिकारियों का कहना है कि नरसिम्हा रेड्डी 22 अक्टूबर, 1984 से डीटीसी ऑफिस में नौकरी कर रहा है। पिछले 34 सालों से पहले बिना किसी तरक्की के इसी पद पर काम कर रहा है।

वहीं एसीबी के डीजी आरपी ठाकुर ने बताया कि आरोपी ने नौकरी के दौरान कोई भी प्रमोशन लेने से साफ इनकार दिया। ऐसा उसने इसलिए ऐसा किया क्योंकि वह उसी पद पर रहते हुए बहुत सा पैसा कमा रहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App