ताज़ा खबर
 

संपादकीय

लापरवाही का इलाज

भारत की गिनती दुनिया के उन देशों में होती है जहां स्वास्थ्य पर सरकारी खर्च बहुत कम होता है।

दिल्ली की हवा

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने पारी घोषित कर श्रीलंका को बैटिंग करने का मौका दे दिया, पर यह सवाल हवा में तैरता...

संपादकीयः बढ़ोतरी का अर्थ

चालू वित्तवर्ष की दूसरी तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर का 6.3 फीसद पर आ जाना अर्थव्यवस्था के फिर से गति पकड़ने का ही...

संपादकीयः निकायों के नतीजे

उत्तर प्रदेश के नगर निकाय चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनावों की ही तरह जोरदार जीत हासिल हुई है।

संपादकीयः प्याज की कीमत

शीतऋतु के आगमन के साथ ही खाद्य पदार्थों खासकर सब्जियों-फलों की कीमतों में नरमी आ जाती है।

संपादकीयः खतरे का परीक्षण

कुछ समय से परमाणु हथियारों के परीक्षण और इससे संबंधित गतिविधियों को लेकर उत्तर कोरिया जिस तरह के आक्रामक रवैए का प्रदर्शन कर रहा...

संपादकीयः बयान बनाम पहरेदारी

पिछले दिनों फिल्म पद्मावती को लेकर कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों और अनेक राजनेताओं ने तल्ख बयान दिए, जिसके मद्देनजर सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि...

संपादकीयः मौत की नींद

कई बार ऐसे बड़े हादसे हो जाते हैं, जिनसे मामूली सावधानी बरत कर बचा जा सकता है।

संपादकीयः किसकी जीत

जिस तरह से पाकिस्तान के कानूनमंत्री जाहिद हामिद को इस्तीफा देने को विवश होना पड़ा, वह कई कारणों से चिंताजनक है। उनके इस्तीफे से...

संपादकीयः समानता का नेट

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण यानी ट्राई ने मंगलवार को नेट-न्यूट्रलिटी यानी नेट-निरपेक्षता के पक्ष में कई तरह की सिफारिशें की हैं, जिनके लागू होने...

संपादकीयः संतुलन का तकाजा

हालांकि कार्यपालिका, विधायिका और न्यायपालिका के बीच शक्तियों के पृथक्करण के सिद्धांत को सभी मानते हैं, फिर भी कईबार एक दूसरे से बेजा दखल...

संपादकीयः कोने में आप

आम आदमी पार्टी का रविवार को रामलीला मैदान में मनाया गया पांचवां स्थापना दिवस समारोह न सिर्फ फीका रहा बल्कि इस मौके पर अंतर्कलह...

दहशतगर्दी का दायरा

कट््टरपंथी मिजाज अन्य धर्मावलंबियों को तो दुश्मन के रूप में देखता-दिखाता ही है, एक दिन वह अपने धर्म के भी उदार व सहिष्णु...

सीमित पैमाने

मूडीज की तरह एस ऐंड पी ने भी भारत में आर्थिक सुधार के लिए उठाए गए कदमों की तारीफ की है और अगले वित्तवर्ष...

संपादकीयः हादसों की पटरी

कहने को हमारे देश में रेलवे सार्वजनिक परिवहन की सबसे बड़ी सेवा है। पर आकार को छोड़, परिचालन और सुरक्षा आदि पहलुओं से देखें,...

संपादकीयः लूट का इलाज

हमारे देश में निजी अस्पतालों में मरीजों की लूट-खसोट, इलाज में कोताही और मनमानापन कोई नई बात नहीं है।

संपादकीयः खतरनाक मेहरबानी

नवंबर 2008 में मुंबई में हुए आतंकवादी हमले के षडयंत्रकारी और लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद की रिहाई पर भारत ने स्वाभाविक ही तीखी...

संपादकीयः संवेदनहीन बयान

जो सार्वजनिक जीवन में या किसी उच्च पद पर हैं, उनसे मर्यादित व्यवहार और मर्यादित भाषा की अपेक्षा कहीं ज्यादा होती है।