ताज़ा खबर
 

संपादकीय

संपादकीय: संवेदनहीन सरकार

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार को कड़ी फटकार लगाई और राज्य के मुख्य सचिव से साफ तौर पर कहा कि मामले में इतनी देरी...

संपादकीय: नोटबंदी का असर

सरकार जहां इसमें सिर्फ फायदे गिनाने पर तुली है, वहीं विपक्ष और अर्थशास्त्रियों का बड़ा वर्ग नोटबंदी के नकारात्मक असर को रेखांकित करता रहा...

संपादकीय: राहत की पढ़ाई

अब मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से जारी ताजा दिशानिर्देश पर अगर ठीक से अमल हुआ तो आने वाले समय में स्कूली बच्चों...

संपादकीय: प्रदूषण और सख्ती

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को सोशल मीडिया पर एक से बाईस नवंबर के बीच सात सौ उनचास शिकायतें मिली थीं। इनमें से पांच सौ शिकायतों...

संपादकीय: मितव्ययता के बरक्स

प्रधानमंत्री के उस सुझाव को बेमानी खर्चों से बचने की दिशा में एक स्वागतयोग्य पहल माना गया था। इसके बाद कुछ राज्यों में सरकारी...

संपादकीय: सुरक्षा और सवाल

पिछले दस साल में भारत में जिस पुख्ता सुरक्षा की जरूरत महसूस की जाती रही है, उस पर हासिल संतोषजनक नहीं रहा है। उपलब्धि...

संपादकीय: हमला और सबक

कराची में अपने दूतावास पर हमले से चीन सकते में हैं। चीन-पाक आर्थिक गलियारा परियोजना में चीन के सैकड़ों अधिकारी और कर्मचारी पाकिस्तान में...

संपादकीय: मंदिर पर घमासान

शिवसेना प्रमुख ने अयोध्या में बेशक कहा कि वे मंदिर मामले में कोई राजनीति नहीं कर रहे, पर उनके अचानक सक्रिय होने से साफ...

संपादकीय: करतारपुर की राह

पाकिस्तान स्थित गुरद्वारा दरबार साहिब करतारपुर तक जाने का रास्ता साफ हो गया है तो सिख समुदाय के लिए इससे बड़ी खुशी की बात...

संपादकीय: सुविधा का पासपोर्ट

पिछले कुछ सालों के दौरान पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया को आसान करने के लिए सरकार की ओर से कई तरह की कवायदें की गई...

संपादकीय: जोखिम और हिम्मत

राजधानी दिल्ली की सार्वजनिक बसों में रोजाना का सफर आसान बनाने और खासकर महिलाओं की सुरक्षा का इंतजाम करने के तमाम वादों और दावों...

संपादकीय: अचानक फैसला

जम्मू-कश्मीर विधानसभा को अचानक भंग करने के राज्यपाल के फैसले को लेकर स्वाभाविक ही राजनीति शुरू हो गई है। विपक्षी दल एक बार फिर...

संपादकीय: हादसा और सबक

यह पहला मौका नहीं है जब वर्धा के पास स्थित यह हथियार डिपो ऐसे हादसे का शिकार हुआ है। दो साल पहले भी इसी...

संपादकीय: आखिर इंसाफ

इस फैसले की अहमियत इसलिए ज्यादा है कि घटना के बाद जांच के बावजूद जब आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं मिल पाए थे,...

संपादकीय: लापरवाही की कीमत

अब पुलिस का कहना है कि वह फैक्ट्ररी वहां गैरकानूनी तरीके से चलाई जा रही थी और बचाव के कोई इंतजाम नहीं थे। सवाल...

संपादकीय: विवाद और समाधान

आरबीआइ बोर्ड की बैठक में विवाद के बड़े बिंदुओं पर सहमति बन गई है। जैसे, रिजर्व बैंक अब इस बात पर विचार करेगा कि...

संपादकीय: हादसों की सड़क

करीब साढ़े तीन महीने पहले उत्तराखंड के ही कोटद्वार में एक बस के खाई में गिरने से अड़तालीस लोगों की जान चली गई। ऐसी...

संपादकीय: आतंक की दस्तक

पिछले दो साल में जिस तरह के हमले सामने आए हैं, उनसे तो लगता है राज्य में आतंक की चिनगारी अभी बुझी नहीं है।...