ताज़ा खबर
 

संपादकीय

मुसीबत की बरसात

पिछले दिनों बेमौसम बरसात से फसलों को हुए नुकसान का मुद्दा बुधवार को लोकसभा में उठा। कुछ सदस्यों ने किसानों के लिए मुआवजे की...

विवाद के बाद

कश्मीर के अलगाववादी नेता मसर्रत आलम की रिहाई को लेकर हुए हंगामे के कारण भाजपा सांसत में थी। पर अब उसने राहत की सांस...

योजना और समाज

नियंत्रक एवं महा लेखा परीक्षक शशिकांत शर्मा का यह सुझाव स्वागत-योग्य है कि सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं का सोशल ऑडिट अनिवार्य किया जाना चाहिए।...

गठबंधन की गांठ

जम्मू-कश्मीर में भारतीय जनता पार्टी और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की साझा सरकार बनने के हफ्ते भर के भीतर गठबंधन का अंतर्विरोध एक बार फिर...

बर्बरता की सड़क

नगालैंड के दीमापुर शहर में जिस तरह भीड़ ने बलात्कार के एक संदिग्ध आरोपी को पीट-पीट कर मार डाला, वह कई कारणों से बेहद...

मसरत को ‘भेड़िया’ कहकर कुमार विश्वास ने बढ़ा दी आप की मुश्किलें!

आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने कश्मीर के अलगाववादी सरगना मसरत आलम पर दे दिया है विवादास्पद बयान। उन्होंने कहा ‘मसरत आलम...

सूचनाधिकार के रोड़े

दस साल पहले सूचना के अधिकार का कानून बना, तो प्रशासन में पारदर्शिता और जवाबदेही लाने की यह एक ऐतिहासिक पहल थी। नागरिकों के...

निष्ठुर नजरिया

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने एक ऐसी बात कही है जो निहायत अप्रत्याशित है। उन्होंने एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में भारत...

पाबंदी के बरक्स

दिल्ली में सोलह दिसंबर, 2012 को एक मेडिकल छात्रा से चलती बस में हुई बलात्कार और हत्या की बर्बर घटना पर बने एक वृत्तचित्र...

आप के सामने

आम आदमी पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति यानी पीएसी से योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को बाहर किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। पीएसी से...

गतिरोध के बाद

भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर का पाकिस्तान जाना यों तो उनकी सार्क यात्रा का एक हिस्सा था, पर उनके दौरे का यही मुकाम...

विरोधाभासों का मेल

रविवार को मुफ्ती मोहम्मद सईद के जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेते ही दो महीने तक चले ऊहापोह का अंत हो गया।...

अकादमिक विचलन

भारतीय जनता पार्टी के केंद्र की सत्ता में आने के साथ अकादमिक संस्थाओं में मनमानी नियुक्तियां होने, शिक्षा और अनुसंधान आदि के भगवाकरण की...

बजट की दिशा

बीते वर्षो में बजट पेश होने के बाद विपक्ष की सामान्य प्रतिक्रिया होती थी कि यह दिशाहीन बजट है। ऐसी बात वर्ष 2015-16 के...

बर्बरता का हथियार

लेखक और ब्लॉगर अविजीत रॉय की हत्या एक स्तब्ध कर देने वाली घटना है। बांग्लादेशी मूल के अमेरिकी नागरिक बयालीस वर्षीय अविजीत रॉय और...

कैसी मेहरबानी

जब भी निजीकरण की वकालत की जाती है तो अक्सर सरकारी विभागों के भ्रष्टाचार का हवाला दिया जाता है। मगर इस बात पर शायद...

सर्वेक्षण के संकेत

हर साल आम बजट से एक रोज पहले सरकार की ओर से संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश करने की परिपाटी रही है। मोटे तौर...

प्रभु का पिटारा

भारतीय रेलवे देश की सबसे बड़ी सार्वजनिक परिवहन सेवा है। इसलिए इससे ढेर सारी उम्मीदें जुड़ी रहती हैं और रेल बजट के समय वे...