ताज़ा खबर
 

संपादकीय

गर्मजोशी के बावजूद

जनसत्ता 2 अक्तूबर, 2014: प्रधानमंत्री का पद संभालने के बाद अमेरिकी नेतृत्व से रूबरू होने का नरेंद्र मोदी का यह पहला मौका था। निश्चय...

खेल में खेल

जनसत्ता 2 अक्तूबर, 2014: माना जाता है कि अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं के निर्णायकों से शायद ही कभी चूक होती है। पर दक्षिण कोरिया के...

सावधानी की मुद्रा

जनसत्ता 1 अक्तूबर, 2014: रिजर्व बैंक को अपनी मौद्रिक नीति की समीक्षा करते समय अमूमन हर बार इस दुविधा से जूझना पड़ता है कि...

मंगलोर की मिसाल

जनसत्ता 1 अक्तूबर, 2014: संविधान की निगाह में भले सब बराबर हों, पर सामाजिक भेदभाव की रिवायत अनेक रूपों में कायम रही है। यह...

पड़ोस से संवाद

जनसत्ता 30 सितंबर, 2014: संयुक्त राष्ट्र महासभा का सालाना अधिवेशन भले वैश्विक मसलों पर केंद्रित रहता हो, यह विभिन्न राष्ट्राध्यक्षों के बीच द्विपक्षीय मुद्दों...

उलटी राह

जनसत्ता 30 सितंबर, 2014: सभी बच्चों को कम से कम माध्यमिक तक शिक्षा मुहैया कराने का राष्ट्रीय उद््देश्य शुरू से संविधान का हिस्सा रहा...

दुनिया के सामने

जनसत्ता 29 सितंबर, 2014: संयुक्त राष्ट्र महासभा में इस बार भारत के प्रधानमंत्री के भाषण को लेकर पहले से कहीं अधिक उत्सुकता थी। इसलिए...

फैसले का संदेश

जनसत्ता 29 सितंबर, 2014: आय से अधिक संपत्ति के मामले में जयललिता को हुई सजा देश की राजनीति की भी एक अपूर्व घटना है...

फैसले का सबक

जनसत्ता 26 सितंबर, 2014: आखिरकार सर्वोच्च न्यायालय ने विभिन्न कंपनियों को 1993 से आबंटित किए गए दो सौ अठारह कोयला खदानों में से दो...

लापरवाही का घेरा

जनसत्ता 26 सितंबर, 2014: मंगलवार को दिल्ली के चिड़ियाघर में जिस तरह बाड़े में गिर पड़ा बाईस साल का एक युवक बाघ का शिकार...

मानवाधिकार का पाठ

जनसत्ता 25 सितंबर, 2014: जनतंत्र का मतलब केवल चुनाव नहीं होता, यह भी होता है कि मानवाधिकारों का खयाल रखा जाए। इस कसौटी पर...

मंगल की मंजिल

जनसत्ता 25 सितंबर, 2014: यह शायद दोहराने की जरूरत नहीं कि भारत के मंगल अभियान की शानदार कामयाबी अब इतिहास के पन्नों पर सुनहरे...

अफगानिस्तान की राह

जनसत्ता 24 सितंबर, 2014: हामिद करजई का उत्तराधिकारी कौन होगा, इस सवाल पर अफगानिस्तान में कई महीनों से चला आ रहा राजनीतिक गतिरोध दूर...

गंगा की सुध

जनसत्ता 24 सितंबर, 2014: हालांकि मोदी सरकार खुद गंगा के निर्मलीकरण को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शुमार करती रही है। भाजपा के चुनाव घोषणापत्र...

खंडित अधिकार

जनसत्ता 23 सितंबर, 2014: भारत में करीब नौ साल पहले सूचना का अधिकार कानून लागू हुआ, तो स्वाभाविक ही इसे नागरिकों के सशक्तीकरण के...

ईमानदारी की मिसाल

जनसत्ता 23 सितंबर, 2014: जिस दौर में ईमानदारी को दुर्लभ गुण माना जाने लगा हो, सौ-दो सौ रुपए के लिए हत्या तक की घटनाएं...

संदेश और सवाल

जनसत्ता 22 सितंबर, 2014: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले हफ्ते देश के मुसलमानों के बारे में जो कहा वह स्वागत-योग्य है। कई मुसलिम संगठनों...

पोषाहार का प्रबंध

जनसत्ता 22 सितंबर, 2014: सरकारी स्कूलों में बच्चों को पोषाहार मुहैया कराने के कार्यक्रम की गिनती देश की प्रमुख कल्याणकारी योजनाओं में होती है।...