ताज़ा खबर
 

दुनिया मेरे आगे

सफाई के साथ

पिछले दिनों मेरे बेटे के स्कूल में दो दिनों तक चलने वाले स्वच्छता अभियान के तहत स्कूल के बरामदे, दीवारें और कक्षाओं के पंखे...

छोटे शहर का बड़ा आदमी

जगमोहन सिंह राजपूत प्रोफेसर मुरारीलाल ने उनसे पूछा, ‘क्या नाम है आपका?’ वे बोले, ‘जनाब हम तो सब सब्जी वाले ही हैं, उसी नाम...

असाधारण जुनून

विष्णु नागर अपने काम के प्रति पूर्ण समर्पण के उदाहरण तो आज भी कम नहीं हैं। मगर बदनाम पुलिस महकमे की साधारण नौकरी करते...

रागी मन की वापसी

गोपेश्वर सिंह ‘अब आप खतरे से बाहर हैं…! इस नए जीवन का आनंद लें!’ आॅपरेशन के बाद जरूरी हिदायत के साथ अस्पताल से छुट्टी...

उम्मीद के चेहरे

अलका आर्य महिला अधिकारों और अभिव्यक्ति की आजादी की पुरजोर हिमायत करने वाली कवयित्री सिमिन बहबहनी से ईरान में शासन करने वाली ताकतें कितना...

बेटी की जगह

विजय विद्रोही बेटी को मुंबई जाना था। टाटा इंस्टीट्यूट आॅफ सोशल साइसेंज में महिला अध्ययन में लिखित इम्तहान और फिर साक्षात्कार होना था। इसके...

किताब के चार कदम

पिछले दिनों एक पुस्तक-यात्रा के सिलसिले में उत्तराखंड जाना हुआ। करनाल जनपद से विकास नारायण राय के साथ यात्रा शुरू की तो उत्तराखंड देखने...

बचे वक्त में

पेशे से भारतीय प्रशासनिक सेवा में वरिष्ठ पद, शिक्षा से इंजीनियर, मगर शौक से हिंदी साहित्य के पढ़ाकू एक मित्र ने अचानक प्रश्न उछाला...

मोबाइल के साथ

विष्णु नागर पहले सिर्फ (अचलित) फोन होता था और उसे हासिल करने में पसीने छूट जाते थे। कई तरह की तिकड़में लगानी पड़ती थीं,...

हरिश्चंद्र और फ्रायड

राजकिशोर पंडितजी धार्मिक श्रद्धा के साथ सत्य हरिश्चंद्र का किस्सा विस्तार से बताए जा रहे थे और मेरे अधार्मिक मन में फ्रायड चहलकदमी कर...

यह कोई होली है

मधु अरोड़ा होली की बातें होली के दिन ही खत्म हो जाएंगी, ऐसा मेरा विश्वास है। आज बात भांग की हो रही है तो...

बिखरने के बाद

विजया सती उत्तरी और दक्षिणी भागों में विभाजित होने से बहुत पहले जोसन शासनकाल में कोरिया ‘हरमिट किंगडम’ के रूप में जाना जाता था।...

डिविलियर्स का धमाल

संदीप जोशी बचपन में ब्रेडमैन के तीन ओवर में शतक जड़ने का किस्सा पढ़ा था। उनकी जीवनी पढ़ते समय उस शतक की हर गेंद...

सेवा का मर्म

महावीर सरन जैन महान सेवा-भावी संत मदर टेरेसा के बारे में मोहन भागवत की सांप्रदायिक टिप्पणी का भाजपा की मीनाक्षी लेखी ने विचित्र तरीके...

सातार का अदृश्य जल

मध्यप्रदेश में ओरछा के निकट बहती सातार नदी की धार अब सूख गई है। एक नदी का विलुप्त होना इतिहास और संस्कृति की मृत्यु...

संवेदना का पक्ष

उस रात दो-ढाई बज गए थे। विभागीय मित्र, रंगकर्मी और आकल्पक राहुल रस्तोगी और एक रंगकर्मी मित्र अनूप जोशी बंटी सहित हम कुछ लोग...

सपने के बरक्स

रिम्मी संसद के भीतर प्रवेश करने से पहले कुछ नेताओं को नतमस्तक होते या मत्था टेकते देखती थी तो सोचती थी कि लोग ऐसा...

नौकर का बाथरूम

विष्णु नागर हमारा बेटा केरल में जिस फ्लैट में रहता है, उसके मालिक उसे अब बेचना चाहते हैं। मगर अभी तक इस कोशिश में...