ताज़ा खबर
 

योगी आदित्यनाथ ने दुराचारियों के पोस्टर चिपकाने के दिये थे आदेश, सपा ने रेप के आरोपी BJP नेता का पोस्टर किया चस्पा; केस दर्ज

इस मामले की पीड़ित महिला का आरोप है कि प्रतापगढ़ में एक जमीन दिलाने के सिलसिल में बीजेपी नेता और उनके एक साथी अक्सर उनसे मिलते थे। महिला का आरोप है कि इन दोनों ने कई बार उनका गैंगरेप किया।

sp, bjp, uttar pradeshबाद में पुलिस ने इस पोस्टर को हटावाया। फोटो सोर्स – सोशल मीडिया

कुछ दिनों पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया था कि राज्य में दुराचारियों को शर्मिंदा करने के लिए दुराचारियों का पोस्टर चौक-चौराहों पर लगाया जाएगा। इधर प्रयागराज में समाजवादी पार्टी के नेताओं ने दुष्कर्म के आरोपी भारतीय जनता पार्टी के एक नेता का पोस्टर चिपका दिया है। इस पोस्टर के चिपकाए जाने के बाद यहां हंगामा खड़ा हो गया। आनन फानन में पुलिस ने इस पोस्टर को हटाया है।

बीजेपी नेता पर क्या है आरोप? बताया जा रहा है कि सपा के नेताओं ने बीजेपी के नेता डॉक्टर श्याम प्रकाश द्विवेदी का पोस्टर लगाया था। श्याम प्रकाश द्विवेदी पर एक महिला ने गैंगरेप का आरोप लगाया था। करीब एक साल पुराने इस मामले में पुलिस ने अब जांच शुरू की है। जांच शुरू होने के बाद से श्याम प्रकाश द्विवेदी कहां हैं? इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है।

इस मामले की पीड़ित महिला का आरोप है कि प्रतापगढ़ में एक जमीन दिलाने के सिलसिल में बीजेपी नेता और उनके एक साथी अक्सर उनसे मिलते थे। महिला का आरोप है कि इन दोनों ने कई बार उनका गैंगरेप किया। आरोपियों की तरफ से धमकी मिलने की वजह से वो चुप थीं बाद में उन्होंने इसकी शिकायत थाने में करवाई थी। युवती प्रयागराज में ही बीए की छात्रा बताई जा रही है।

कौन हैं डॉक्टर श्याम प्रकाश द्विवेदी? श्याम प्रकाश द्विवेदी के बारे में बताया जा रहा है कि वो अभी बीजेपी युवा मोर्चा के काशी प्रांत के उपाध्यक्ष हैं। श्याम द्विवेदी का होटल का व्यवसाय है और इसके अलावा वो अन्य कारोबार भी चलाते हैं। इनके पिता रामरक्षा द्विवेदी भी बीजेपी में जिलाध्यक्ष के पद पर रह चुके हैं। इनके फेसबुक प्रोफाइल को देखने से पता चलता है कि इनकी पहुंच शायद पार्टी में बड़ी है क्योंकि इनकी तस्वीरें लगभग सभी बड़े नेताओं के साथ है।

गैंगरेप के मामले में नामजद आऱोपी होने के बावजूद भी इनकी गिरफ्तारी नहीं हो पाने का विरोध समाजवादी पार्टी कर रही है। पार्टी का कहना है कि इसी विरोध के स्वरुप यह पोस्टर लगाए गए थे। बहरहाल इस मामले में सिविल लाइन थाने में सपा नेता संदीप यादव समेत छह अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने सुभाष चौराहे पर लगे पोस्टरों को हटा दिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 छत्तीसगढ़ः कांकेर में पत्रकारों पर हमला, बोले- अवैध खनन पर कर रहे थे रिपोर्टिंग, Congress के गुंडे लगे पीटने
2 लूडो में हारी तो पिता के खिलाफ कोर्ट पहुंच गई बेटी, बोली – चीटिंग किया इन्हें पिता भी नहीं कहना चाहती
3 राजन तिवारी: लालू राज में मंत्री की हत्या में जेल की हवा खाई, ‘बीजेपी’ से टिकट पाकर बाहुबली पूर्व विधायक दामन को पवित्र करने की रखते हैं ख्वाहिश
IPL Records
X