ताज़ा खबर
 

महिला को 46 साल बाद मिला खोया हुआ बटुआ, 1975 के बाद अब सोशल मीडिया ने मिलाया

बटुआ खोलने पर उसमें पुरानी तस्वीरें और कुछ अन्य सामान दिखे थे। इसमें पैसे नहीं थे, मगर तस्वीरों के अलावा 1973 का ग्रेटफुल डेड कॉन्सर्ट टिकट और कोलीन डिस्टिन नामक महिला का ड्राइविंग लाइसेंस था।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (Photo- Indian Express)

अमेरिका के कैलिफोर्निया में साल 1975 में महिला का एक बटुआ खो गया था। करीब 75 साल बाद ये बटुआ महिला को मिल गया है और वो भी सोशल मीडिया की मदद से। ये वेंचुरा की रहने वाली एक महिला के साथ हुआ है और वह करीब 46 साल पहले वेंचुरा थिएटर घूमने गई थी। यहां उसका बटुआ गिर गया था। हालांकि महिला को भी घर आने के बाद इस बारे में पता चला था कि उसका बटुआ कहीं बाहर गिर गया है।

देखते ही देखते समय बीतता गया और महिला के दिमाग से भी बटुआ खोने की बात धुंधली हो गई। दक्षिण कैलिफोर्निया के ऐतिहासिक मैजेस्टिक वेंचुरा थिएटर में सफाई के दौरान कचरे में यह मिला था। अब क्योंकि इतने समय बाद महिला को ढूंढना बहुत मुश्किल था और बटुए में कर्मचारी को महिला का एक आईडी प्रूफ भी मिल गया था, लेकिन महिला की पहचान बहुत मुश्किल हो गई थी।

अब नए जमाने में सोशल मीडिया ने एक और कारनामा कर दिखाया क्योंकि महिला की पहचान सोशल मीडिया के सहारे ही हो पाई है। कर्मचारी टॉम स्टीवंय ने कहा कि मुझे सफाई के दौरान पुराने कैंडी बार रैपर, टिकट स्टब्स और सोडा के डिब्बे के बीच यह बटुआ मिला था।

बटुआ खोलने पर उसमें पुरानी तस्वीरें और कुछ अन्य सामान दिखे थे। इसमें पैसे नहीं थे, मगर तस्वीरों के अलावा 1973 का ग्रेटफुल डेड कॉन्सर्ट टिकट और कोलीन डिस्टिन नामक महिला का ड्राइविंग लाइसेंस था। उसने थिएटर के फेसबुक पेज पर एक पोस्ट साझा कर लोगों को कोलीन डिस्टिन के बारे में पूछा था।

इसके बाद उसकी ये पोस्ट वायरल होने लगी थी और महिला का भी पता चल गया था। वेंचुरा में पली-बढ़ी डिस्टिन के पास इस बात की जानकारी पहुंची और उसे इस पोस्ट के बारे में कॉल आया तो 25 मई को उसने जवाब दिया कि बटुआ उसका था। बटुआ लेते हुए उसने कहा कि यह टाइम कैप्सूल खोलने जैसा है। उन्होंने 1975 में अपना बटुआ खो दिया था, जब वह 20 साल के करीब थीं। बटुए में कविता और नोट्स दोस्तों की तस्वीरें, एक संगीत कार्यक्रम के लिए पांच डॉलर का टिकट था।

इस बटुए में उनकी मां की तस्वीरें भी थीं, जिनका कई साल पहले निधन हो चुका है। इस बटुए को देखकर वह काफी भावुक भी हो गईं क्योंकि ये बहुत समय बाद मिला था और इसमें कुछ ऐसी यादें थीं जिसके वापस मिलने की उन्होंने कल्पना भी नहीं की थी। उन्होंने कहा कि यह वास्तव में मेरे लिए अद्भुत है।

Next Stories
1 आरिफ शेख से संजीव यादव तक, इन दबंग IPS अधिकारियों के नाम से ही कांपते हैं अपराधी
2 फेसबुक पर हुआ प्यार तो बंदूक की नोक पर बेटी को उठाकर लेकर गया प्रेमी, छुड़ाने गई पुलिस पर भी कर दी फायरिंग
3 भाई को मारने की धमकी देकर युवती से कई महीनों तक करता रहा रेप, गर्भवती होने पर पीड़िता ने बताई आप बीती
ये पढ़ा क्या?
X