ताज़ा खबर
 

वाहनों की सेल गिरने से परेशान होकर महिला ऑटोमोबाइल कर्मचारी ने दी जान

वह कंपनी में संयुक्त प्रबंध निदेशक थी। यह कंपनी लोकप्रिय चार पहिया वाहन की ब्रिकी करती है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘ अबतक कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है.... हमें संदेह है कि पारिवारिक वजहों से उन्होंने आत्महत्या की।

Author नई दिल्ली/ चेन्नई | Updated: September 12, 2019 6:04 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

वाहनों की बिक्री से जुड़ी एक कंपनी की 49 वर्षीय एक वरिष्ठ महिला कर्म चारी ने कथित रूप से पारिवारिक मुद्दे को लेकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। इस महिला कर्मी को सुबह घर में उसके घरेलू सहायक ने फंदे से लटकते देखा। वह कंपनी में संयुक्त प्रबंध निदेशक थी। यह कंपनी लोकप्रिय चार पहिया वाहन की ब्रिकी करती है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘ अबतक कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है…. हमें संदेह है कि पारिवारिक वजहों से उन्होंने आत्महत्या की। ’’ अधिकारी ने कहा कि मामले की जांच चल रही है। गौरतलब है कि इन दिनों देश की अर्थव्यवस्था के हालात ठीक नहीं चल रहे हैं। ऑटो सेक्टर, रियल स्टेट, चमड़ा उद्योग के अलावा तममा लघु उद्योग में भी मंदी का भारी असर है।

मंदी के चलते केंद्र सरकार भी विपक्ष के निशाने पर है। सभी विपक्ष पार्टियां इन दिनों नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला कर रही हैं। कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था के ”मुश्किल” हालात पर चिंता जताते हुए बृहस्पतिवार को फैसला किया कि आर्थिक मंदी के खिलाफ अगले महीने पूरे देश में प्रदर्शन किया जाएगा। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में हुई महासचिवों, प्रदेश अध्यक्षों, पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं कई अन्य वरिष्ठ नेताओं की बैठक में यह निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि आर्थिक मंदी के खिलाफ राज्य स्तर पर 15 अक्टूबर से 25 अक्टूबर के बीच आर्थिक मंदी पर व्यापक विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। इसके अलावा बैठक में यह भी फैसला हुआ कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर राज्यों के स्तर पर पदयात्रा निकाला जाएगी, सदस्यता अभियान शुरू होगा और कार्यकर्ताओं के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित होगा।

बैठक में सोनिया के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, पार्टी के वरिष्ठ नेता एके एंटनी, अहमद पटेल, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत , पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा पार्टी के कई महासचिव-प्रदेश प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दल के नेता शामिल हुए।

(इनपुट भाषा)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कर्ज से परेशान किसान ने दी जान, आत्महत्या करने वाला परिवार का पांचवा सदस्य
2 मोबाइल पर बात करते-करते बिस्तर पर मेटिंग कर रहे सांपों पर बैठ गई महिला और फिर…
3 जिसे घरवालों ने बताया था रेपिस्ट उसी लड़के के लिए पूरे परिवार को जहर खिला भाग गई नाबालिग