ताज़ा खबर
 

और चंडीगढ़ की वो पहली महिला कैब ड्राइवर बन गई गैंगस्टर, जिसने भी सुना रह गया दंग

पुलिस ने जब इस लूटपाट के मकसद का खुलासा किया तो सबकी आंखें फटी की फटी ही रह गईं। दरअसल यह गिरोह लुधियाना जेल में बंद अपने साथी गैंगस्टर दीपक कुमार उर्फ बिन्नी गुज्जर को छुड़ाना चाहता था। इस साजिश को अंजाम तक पहुंचाने में इस लूटी हुई कार का इस्तेमाल किया जाना था।

CRIME , NAVDEEP KAUR, WOMEN CAB DRIVERमहिला के गैंग के पास से हथियार भी बरामद किए गए। फोटो सोर्स – फेसबुक, @ROYAL _JAMMU

जब वो महिला, कैब ड्राइवर बनी थी तो सभी लोग उसकी प्रशंसा करते नहीं थकते थे। लेकिन तब किसी को अंदाजा नहीं था कि कैब ड्राइवर से शुरू हुआ उसके करियर का यह सफर ‘गैंगस्टर’ पर जाकर खत्म होगा। यह कहानी है चंडीगढ़ की नवदीप कौर उर्फ दीप की। सड़कों पर सरपट गाड़ियां दौड़ाने वाली दीप चंडीगढ़ में काफी मशहूर इसलिए थी क्योंकि वो यहां की पहली महिला कैब ड्राइवर थी और कई लोग दीप को पहचानते थे क्योंकि उसकी तस्वीर अखबारों और टीवी की सुर्खियां बनती रहती थीं। लेकिन एक दिन अचानक पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद जब दीप मीडिया की सुर्खियों में आई तो किसी को यकीन ही नहीं हुआ। लेकिन जल्दी ही पुलिस ने नवदीप कौर के चेहरे से नकाब हटाया तो उसकी सच्चाई ने सबको दंग कर दिया। पता चला कि नवदीप कौर लूटपाट करने वाले के गिरोह की सरगना है और उसके गैंग में एक से बढ़कर एक लुटेरे भरे पड़े हैं।

दरअसल इसी साल अगस्त के महीने में पंजाब के मोहाली इलाके में बंदूक की नोंक पर बदमाशों ने एक कार लूट ली थी। इस संगीन वारदात के बाद कार के मालिक ने पुलिस को इस घटना के बारे में सूचना दी। सूचना मिलते ही मोहाली और चंडीगढ़ की पुलिस ने मिलकर इस मामले की छाबनीन शुरू की। पुलिस ने जितने सुराग इकठ्ठा किए उससे पता चला कि इस लूट की वारदात की साजिश किसी महिला ने रची थी। कहते हैं कि जुर्म छिपता नहीं और अपराधी बचता नहीं। इस मामले में भी ऐसा ही हुआ और जल्दी ही कानून के लंबे हाथ जा पहुंचे नवदीप कौर उर्फ दीप तक।

पुलिस ने लूटपाट की इस वारदात के लगभग 10 दिनों बाद अचानक दीप और उसके तीन साथियों को धर दबोचा। पुलिस ने इसके बाद बताया कि मोहाली में इस कार लूट को अंजाम देने में मोगा के रहने वाले अनिल कुमार सोनू और जालंधर के लांबड़ा के रहने वाले गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी का हाथ है। पुलिस ने खुलासा किया कि इस लूटपाट की मास्टरमाइंड कोई और नहीं बल्कि दीप ही है। दीप के ही कहने पर तमंचे के बल पर इस वारदात को अंजाम दिया गया था। पुलिस ने इस लुटेरे गिरोह से नशीला पाउडर, रिवाल्वर और कारतूस भी बरामद किया।

पुलिस ने जब इस लूटपाट के मकसद का खुलासा किया तो सबकी आंखें फटी की फटी ही रह गईं। दरअसल यह गिरोह लुधियाना जेल में बंद अपने साथी गैंगस्टर दीपक कुमार उर्फ बिन्नी गुज्जर को छुड़ाना चाहता था। इस साजिश को अंजाम तक पहुंचाने में इस लूटी हुई कार का इस्तेमाल किया जाना था। इतना ही नहीं पुलिस ने अपनी तफ्तीश में यह भी पता लगाया कि नवदीप कौर का पति गुरविंद सिंह करीब आधा दर्जन बैंकों में डकैती के आरोप में पहले से ही चंडीगढ़ की जेल में बंद है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रेमी के साथ मिल पति के कर दिए टुकड़े-टुकड़े, जहां-तहां फेंक कर लगाया ठिकाना
2 25 साल पुराने बलात्कार के मामले में दिया मृत्युदंड
3 ब्रा से गला घोंट ले ली थी जान, जेल में लिखी किताब बन गई बेस्ट सेलर
ये पढ़ा क्या?
X