ताज़ा खबर
 

घर पर बुला करने लगती थीं ब्लैकमेल, हुस्न के जाल में फंसाने वाली गैंग को पुलिस ने यूं दबोचा

वहां से निकलने के बाद कारोबारी सीधे राजौरी गार्डेन थाना पहुंचे। यहां उनकी आपबीती सुनते ही पुलिस ने तत्परता से एक्शन लिया। पुलिस ने तुरंत इस गिरोह की एक महिला सदस्य को धर दबोचा।

यह गिरोह अमीर लोगों को अपना निशाना बनाता था। प्रतीकात्मक तस्वीर।

इन महिलाओं का गैंग इतना शातिर था कि बड़ी आसानी से लोग इनके छलावे में आ जाते थे। पहले हुस्न का जाल बिछाकर अमीर लोगों को अपना दीवाना बनाना और फिर उन्हें ब्लैकमेल कर उनसे मोटी रकम ऐंठना इस गिरोह का मुख्य पेशा था। कुछ लोग अपनी बदनामी के डर से पुलिस के पास इनकी शिकायत नहीं करते थे तो कई लोग खौफ की वजह से भी इस गिरोह से पंगा नहीं लिया करते थे। लेकिन इस बार इनके एक शिकार ने पुलिस में इनकी शिकायत कर दी और फिर इस गिरोह का भंडाफोड़ हो गया। अप्रैल, 2019 में इस गिरोह की एक महिला सदस्य ने दिल्ली के एक कारोबारी को फोन किया। फोन पर इस युवती ने अपनी चिकनी-चुपड़ी बातों से कारोबारी को अपने वश में कर लिया। वो अक्सर कारोबारी को फोन करती और फिर धीरे-धीरे दोनों के बीच दोस्ती भी गहरा गई। एक दिन इस महिला ने कारोबारी को अपने घर मिलने के लिए बुलाया।

कारोबारी अपने एक दोस्त के साथ इस लड़की से मिलने राजौरी गार्डेन पहुंचे। यहां उन्हें दो युवतियां मिलीं। दोनों युवतियां उन्हें लेकर सुभाष पार्क स्थित एक घर पर पहुंचीं। दोनों युवतियों ने दोनों युवकों के कपड़े उतरवा दिए। इसी दौरान वहां चार अन्य महिलाएं और दो युवक आ धमके। इन सभी ने मिलकर कारोबारी और उनके दोस्त के साथ मारपीट शुरू कर दी। इन सभी ने मिलकर कारोबारी से 20 लाख रुपए की डिमांड की और रकम नहीं देने पर उन्हें बदनाम करने की धमकी भी दी। उस वक्त 7 लाख रुपए में बात तय हुई।

वहां से निकलने के बाद कारोबारी सीधे राजौरी गार्डेन थाना पहुंचे। यहां उनकी आपबीती सुनते ही पुलिस ने तत्परता से एक्शन लिया। पुलिस ने तुरंत इस गिरोह की एक महिला सदस्य को धर दबोचा। पुलिस के मुताबिक इस गिरोह में चार महिलाएं और दो पुरुष हैं। यह सभी हनीट्रैप के जरिए अमीर लोगों को फंसाते हैं और फिर उन्हें अपने अड्डे पर बुलकर उन्हें बदनाम करने की धमकी देकर उनसे पैसे वसूलते हैं। पुलिस ने यह भी बताया कि इन्हीं लोगों ने इससे पहले आदर्श नगर के एक 33 साल के कारोबारी को भी ब्लैकमेल कर लूटा था। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App