ताज़ा खबर
 

रेप का आरोप लगने के बाद बढ़ी IAS जनक प्रसाद की मुश्किलें, जांच में पीड़िता को गंदे मैसेज भेजने के मिले सबूत

महिला के पति सरकारी नौकरी में हैं। महिला का आरोप है कि आईएएस अधिकारी ने उनके पति को नौकरी से निकालने की धमकी भी दी थी।

CRIME, CRIME NEWSमहिला ने कई सबूत पुलिस को दिये हैं। प्रतीकात्मक तस्वीर।

महिला से दुष्कर्म के मामले में फंसे छत्तसीगढ़ के IAS अफसर जनक प्रसाद पाठक की मुश्किलें बढ़ गई हैं। ‘The Indian Express’ की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस को जांच में इस बात के सबूत मिले हैं कि महिला के मोबाइल फोन पर गंदे मैसेज भेजे गए थे। इससे पहले पीड़िता ने इस मामले में 53 साल के आईएएस के खिलाफ लिखित शिकायत पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर को दी थी। यह भी कहा जा रहा है कि महिला ने आईएएस अधिकारी के खिलाफ कुछ पुख्ता सबूत भी दिये हैं। इन सबूतों और महिला की शिकायत के आधार पर इस मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 506 और 509 के तहत केस दर्ज किया गया है।

महिला ने आरोप लगाया है कि जब जनक प्रसाद पाठक Janjgir-Champa के District Collector थे तब उन्होंने उनका यौन उत्पीड़न किया। एक गैर सरकारी संस्था से जुड़ी 30 साल की पीड़िता का आरोप है कि कलेक्टर ने उनकी संस्था को कुछ काम देने के बहाने उन्हें कलेक्ट्रेट बुलाया था और यहीं पर उनका यौन उत्पीड़न किया गया है।

महिला के पति सरकारी नौकरी में हैं। महिला का आरोप है कि आईएएस अधिकारी ने उनके पति को नौकरी से निकालने की धमकी भी दी थी। महिला ने बताया कि रिपोर्ट फाइल करने में इसलिए उन्हें देरी हुई क्योंकि वो कलेक्टर के खिलाफ रिपोर्ट दायर करने से डर रही थीं।

कुछ दिनों पहले ही आईएएस पाठक का तबादला जांजगीर कलेक्टर से रायपुर में भू-अभिलेख संचालक के पद पर हुआ था। इसके बाद अब पीड़ित महिला ने थाने में शिकायत दर्ज की है। बताया जा रहा है कि जनक प्रसाद पाठक के जांजगीर कलेक्टर रहने के दौरान पीड़िता करीब 1 महीने पहले उनसे किसी काम के सिलसिले में मिलने गई थी।

आरोप है कि पाठक ने महिला को 15 मई को बुलाया और फिर उसके साथ अपने ही चैंबर में दुष्कर्म किया। महिला ने घटना की जानकारी पहले अपने पति को दी फिर पुलिस से मामले की शिकायत की। महिला की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के आईएएस अधिकारी जनक प्रसाद ऐसे पहले आईएएस नहीं है जिनके खिलाफ किसी महिला ने इतना बड़ा आरोप लगाया हो। इससे पहले जशपुर के पूर्व कलेक्टर पर भी एक महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। इस मामले में साल 2012 में पूर्व आईएएस अधिकारी को 7 साल जेल की सजा हुई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Coronavirus, (COVID-19): पत्नी से तलाक के लिए रची गंदी साजिश! Facebook पर मोबाइल नंबर डाल पति ने किया बदनाम
2 COVID-19 संक्रमित के अंतिम संस्कार का विरोध कर रहे भीड़ का हंगामा, अधजली लाश एंबुलेंस में लेकर भागे परिजन
3 Jessica Lal Murder Case: आजाद हो गया कातिल मनु शर्मा! मॉडल को सिर में गोली दागने वाले को उपराज्यपाल ने छोड़ने का आदेश दिया