ताज़ा खबर
 

चेन्‍नई: पिल्लों संग दुराचार कर रहा था शख्स, महिला ने देखा और पुलिस से कर दी शिकायत, सीसीटीवी में कैद है गंदी हरकत!

चेन्नई में एक शख्स पिल्लों के साथ दुराचार कर रहा था। यह घटना एक महिला ने देखी और पुलिस से शिकायत कर दिया। मामले में सीसीटीवी फुटेज भी मौजूद है, जिसमें शख्स आपत्तिजनक हालत में दिखाई दे रहा है।

चेन्नई में एक शख्स को पिल्लों के साथ दुराचार करते देखा गया। (फोटो CCTV स्क्रिन शॉट)

चेन्नई में एक  चौंकाने वाला वाकया सामने आया है। यहां एक शख्स को कुत्तों के पिल्लों के साथ दुराचार करते देखा गया है। पिल्लों के साथ दुराचार करने की गवाह एक महिला है और उसने इस संबंध में सीसीटीवी फुटेज भी मुहैया कराए हैं। इलावारसी नाम की महिला अपने घर के सामने खाली पड़े मैदान में अवारा कुत्तों को रोजाना खाना देती हैं। उनका कहना है कि 15 दिन पहले पैदा हुए पिल्लों के साथ एक शक्स ने दुराचार किया है। द न्यूज मिनट की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और कार्रवाई की जा रही है।

द न्यूज मिनट के साथ बातचीत में शिकयात दर्ज कराने वाली महिला ने कहा, “मेरे घर के सामने खाली प्लॉट पड़ा हुआ है और वहां एक कुतिया ने 15 दिन पहले पिल्लों जन्म दिया है। मैं रोजाना उन्हें खाना खिलाती हूं। मैं देख रही थी कि एक शख्स पिल्लों की ओर बढ़ा और उन्हें उठा लिया। मैं यह देखकर तुरंत खुश हो गई कि कम से कम कोई उनकी देखभाल के लिए अपने साथ ले जा रहा है। फिर मैंने देखा कि उसने अपने पैंट की जिप खोल दी। मैंने सोचा कि वह पेशाब करने के लिए ऐसा कर रहा होगा। लेकिन, उसने पिल्लों को एक-एक करके उठाया और उनके मुंह पर किस करने लगा। वह फिर बैठ गया और पिल्लों को अपनी पैंट के भीतर डाल दिया।” महिला का कहना है कि वह दुराचार करने वाले शख्स को दबोचने के लिए घर से नीचे की ओर दौड़ी लेकिन तब तक वह फरार हो चुका था।

इलावारसी का कहना है कि इस संदर्भ में पुलिस का रवैया बेहद ही लचर था। द न्यूज मिनट को महिला ने बताया कि पुलिस ने उनसे बार-बार एक ही सवाल कर रही थी कि पिल्लों के साथ वह क्या कर रहा था। उन्होंने बताया, “वह मुझसे बार-बार पूछ रहे थे कि यह कैसे हुआ। जबकि मैंने उन्हें सीसीटीवी फुटेज भी मुहैया करा दिए थे। जिसमें पूरी घटना कैद थी। लेकिन, वे लगातार कहे जा रहे थे कि उन्हें (पुलिस को) कुछ स्पष्ट दिखाई नहीं दे रहा है। हालांकि, इस संदर्भ में पुलिस ने सफाई दी है कि कानूनी राय लेने की वजह से मामला दर्ज करने में देरी हुई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App