scorecardresearch

क्या है IMEI नंबर? मोबाइल चोरी के केस में पुलिस इसे कैसे करती है इस्तेमाल, जानिए डिटेल में

Delhi Police: दिल्ली में पिछले साल की तुलना में रोड साइड क्राइम में 11-15% की वृद्धि हुई है। 1 जनवरी से 28 जून के बीच 4,660 स्नैचिंग के मामले सामने आएं हैं।

क्या है IMEI नंबर? मोबाइल चोरी के केस में पुलिस इसे कैसे करती है इस्तेमाल, जानिए डिटेल में
दिल्ली में पिछले साल की तुलना में रोड साइड क्राइम में 11-15% की वृद्धि हुई है। (Photo Credit – Freepik)

What is IMEI Number: देश के राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मोबाइल स्नैचिंग के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली पुलिस अब चोरी या लूटे गए फोन को ब्लॉक करने के लिए IMEI नंबर को इस्तेमाल में लाने की कवायद की है। पुलिस इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर और दूरसंचार विभाग के साथ तालमेल बिठाने की योजना बना रही है। दिल्ली में पिछले साल की तुलना में रोड साइड क्राइम में 11-15% की वृद्धि हुई है।

IMEI नंबर क्या है?

आईएमईआई (IMEI) का पूरा मतलब इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी होता है। यह किसी भी मोबाइल का एक यूनिक नंबर होता है, जिसका इस्तेमाल मोबाइल नेटवर्क पर डिवाइस की पहचान करने के लिए किया जाता है। आईएमईआई नंबर में 15 अंक होते हैं। जब भी कोई इंटरनेट का उपयोग करता है या अपने सेलुलर सर्विस प्रोवाइडर के माध्यम से कॉल करते हैं तो इस नंबर के इस्तेमाल से उस डिवाइस की पहचान की जा सकती है।

चोरी की जांच के लिए पुलिस कैसे करती है इस्तेमाल?

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि इस योजना के तहत “सभी चोरी हुए फोन का डेटा तुरंत दर्ज कर इसे सर्वर और क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम्स (सीसीटीएनएस) पर अपलोड किया जाता है।” अधिकारी के अनुसार, एक महीने के ट्रायल के दौरान 950 से अधिक IMEI नंबरों की मदद से फोन को ब्लॉक करने का काम किया गया है। पुलिस पीड़ितों को उनके चोरी हुए फोन को ब्लॉक करने के लिए सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर (सीईआईआर) में रजिस्टर करने में भी मदद कर रही है।

आप अपना IMEI नंबर कैसे चेक कर सकते हैं?

कोई भी मोबाइल डिवाइस बनाने वाली कंपनी निर्माता इसे स्टिकर पर प्रिंट करते हैं और डिवाइस और उसके बॉक्स पर चिपका देते हैं। यह आमतौर पर आपके फोन के पीछे बैटरी पैक के नीचे पाया जाता है। हालांकि, इसे खोजने का सबसे आसान तरीका अपने मोबाइल पर *#06# डायल करना है, और आपकी स्क्रीन तुरंत आपके वर्तमान डिवाइस का IMEI नंबर प्रदर्शित करेगी।

पुलिस के सामने क्या है चुनौती?

एक पुलिस अधिकारी ने खुलासा किया कि आजकल कुछ गिरोह चोरी के फोन को फॉर्मेट करना शुरू कर दिया है। “जिन मोबाइल फोन में ऑपरेटिंग और सिक्योरिटी सिस्टम कमजोर होता है, उन्हें तोड़ा जा सकता है। एक सॉफ्टवेयर है जो फोन के आईएमईआई नंबर भी बदल सकता है। गिरोहों का यही तरीका चोरी के डिवाइस को ब्लॉक करने में पुलिस के लिए परेशानी का कारण बन सकता है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट