ताज़ा खबर
 

VIDEO: सबरीमाला मंदिर में दर्शन के लिए आई महिला समाजसेविका की आंखों में डाला मिर्च, कमिशनर ऑफिस के बाहर हुई घटना

Sabrimala Temple Kerala: बता दें कि सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश से जुड़े मामले पर साल 2018 में देश की सबसे बड़ी अदालत ने ऐतिहासिक फैसला दिया था।

crime, crime newsचेहरे पर मिर्च पाउडर पड़ने की वजह से उन्हें अस्पताल ले जाया गया। फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट

Sabrimala Temple Kerala: सबरीमाला मंदिर में दर्शन के लिए पहुंची एक महिला की आंखों में मिर्च डाल दिया गया। महिला के चेहरे पर मिर्च स्प्रे से हुए हमले का VIDEO भी सामने आया है। बड़ी हैरानी की बात है कि यह घटना केरल के कोच्चि स्थित पुलिस कमिशनर के दफ्तर के बाहर हुई है। घटना के वक्त वहां मौजूद किसी शख्स ने अपने मोबाइल पर इस पूरी घटना का वीडियो तैयार कर लिया। वीडियो में नजर आ रहा है कि महिला के चेहरे पर अचानक एक युवक मिर्च का स्प्रे करता है। चेहरे पर हुए स्प्रे से महिला घबरा जाती है। वो इस स्प्रे से बचने की कोशिश में इधर-उधर दौड़ने लगती हैं लेकिन यह युवक लगातार उनका पीछा कर उनपर मिर्च पाउडर का स्प्रे करता है।

जानकारी के मुताबिक पीड़ित महिला का नाम बिंदू अम्मिनी है और वो पेशे से एक समाजसेविका हैं। चेहरे पर मिर्च पाउडर डाले जाने के बाद बिंदू अम्मिनी को तुरंत अस्पताल ले जाया गया। बताया जा रहा है कि एक्टिविस्ट बिंदू अम्मिनी के साथ दूसरी समाजसेविका त्रुप्ति देसाई और अन्य 4 महिलाएं भी अय्यपा मंदिर जाने के सिलसिले में मंगलवार को केरल के कोच्चि एयरपोर्ट पर पहुंची थीं।

मंदिर जाने से पहले यह सभी 6 महिलाएं कोच्चि स्थित पुलिस कमिशनर के कार्यालय में पहुंची थीं। जब 5 अन्य महिलाएं यहां वरिष्ठ अधिकारियों से कार्यालय के अंदर बातचीत कर रही थीं तब ही बिंदू अम्मिनी पर कार्यालय के बाहर मिर्च पाउडर से हमला हो गया। बता दें कि इन सभी महिलाओं ने पहले ही साफ कर दिया था कि उन्हें सुरक्षा मिले या ना मिले वो सभी मंदिर में दर्शन के लिए जरूर जाएंगी।

बता दें कि सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश से जुड़े मामले पर साल 2018 में देश की सबसे बड़ी अदालत ने ऐतिहासिक फैसला दिया था। कोर्ट ने मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं को जाने की इजाजत दी थी। हालांकि अदालत के फैसले के बाद कुछ पुरुष श्रद्धालुओं ने इसपर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। इसके बाद केरल सरकार ने वादा किया था कि वो मंदिर में जाने वाली सभी महिलाओं को सुरक्षा मुहैया कराएगी।

सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले पर एक पुनर्विचार याचिका भी डाली गई है जिसपर देश की सबसे बड़ी अदालत अपना फैसला अभी सुनाएगी। हालांकि अदालत ने अभी अपने पूर्व के फैसले पर स्टे नहीं लगाया है।

हाल ही में केरल की सरकार की तरफ से कहा गया कि वो समाजसेविकाओं को मंदिर के अंदर घुसने से पहले सुरक्षा प्रदान नहीं करेगी। बीते 16 नवंबर को केरल सरकार में मंत्री कडकमपैली सुरेंद्रन ने कहा था ‘यह जगह समाजसेवकों के लिए नहीं है…यह त्रुप्ति देसाई जैसे एक्टिवस्टिों के लिए नहीं है..जो यहां आकर अपनी ताकत दिखाती हैं।’ (और…CRIME NEWS)

Next Stories
1 25 साल की वकील से रेप, पीड़िता का आरोप- नशे की हालत का उठाया फायदा, घर ले जाकर बलात्कार
2 6 फेरे लेने के बाद बदल गया दुल्हन का मूड, बोली- काला है दूल्हा, नहीं करूंगी शादी
3 फोन-लैपटॉप और कम्प्यूटर में बच्चों के पॉर्न वीडियो रखे तो होगी 5 साल की जेल, अब तक 6 गिरफ्तार
ये पढ़ा क्या?
X