scorecardresearch

उत्तराखंड STF ने पंजाब बम धमाकों के साजिशकर्ता को पनाह देने के आरोप में 4 को किया गिरफ्तार

उत्तराखण्ड डीजीपी ने बताया कि पंतनगर से गिरफ्तार हुए ये चारों आरोपी पंजाब सीरियल बम धमाकों के मुख्य साजिशकर्ता व आतंकवादी सुखप्रीत सिंह सुख को जिले में शरण दे रहे थे।

uttarakhand stf, terrorist arrest in uttarakhand, uttarakhand police
उत्तराखंड राज्य पुलिस महानिदेशक IPS अशोक कुमार ने पूरे मामले जानकारी दी। (Photo Credit – Social Media)

हाल ही के महीनों में पंजाब में अलग-अलग जगहों पर हुए सीरियल बम धमाकों के सिलसिले में चार संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। यह चारों गिरफ्तारियां उत्तराखंड एसटीएफ ने की हैं। इन चारों पर आरोप है कि उन्होंने पंजाब के पठानकोट, लुधियाना व नवांशहर में हुए बम धमाकों के साजिशकर्ताओं को शरण दी थी। खालिस्तान टाइगर फ़ोर्स से जुड़े इन चारों संदिग्धों को उधम सिंह नगर जिले के पंत नगर इलाके से गिरफ्तार किया गया है।

उत्तराखंड राज्य के पुलिस महानिदेशक IPS अशोक कुमार ने जानकारी देते हुए कहा कि ये चारों आरोपी पंजाब सीरियल बम धमाकों के मुख्य साजिशकर्ता व आतंकवादी सुखप्रीत सिंह सुख की मदद करने के साथ उसे जिले में शरण दे रहे थे। इनके पास से पुलिस को 32 बोर की पिस्टल, 4 जिंदा कारतूस और एक लग्जरी कार बरामद की गई है। पंजाब में हुए बम धमाकों के मामले में अब तक कुल 6 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। पूर्व में हो चुकी गिरफ्तारियां पंजाब पुलिस के नेतृत्व में हुई थी।

बता दें कि, बीते साल नवंबर महीने में पंजाब के लुधियाना, पठानकोट और नवांशहर में तीन धमाकों को अंजाम दिया गया था। इसी क्रम में उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स को यह इनपुट था कि इन धमाकों से जुड़े कुछ संदिग्ध राज्य के उधम सिंह नगर जिले के पंतनगर इलाके में हैं। ऐसे में जब टीम के साथ छापेमारी की गई तो चारों संदिग्धों को दबोच लिया गया।

उत्तराखंड डीजीपी के मुताबिक, पंतनगर इलाके में छापेमारी के लिए एसटीएफ प्रमुख अजय सिंह ने कई टीमों का गठन किया गया था। इन टीमों को कहा गया था कि हर हालत में संदिग्धों को पकड़ना है और किसी भी तरह का नुकसान नहीं होने देना है। वहीं इन सभी टीमों का नेतृत्व डिप्टी एसपी एसटीएफ पूर्णिमा गर्ग कर रही थी। इस छापेमारी में पहले संदिग्धों के इलाके को पूरी तरह से घेर कर सील कर दिया गया और फिर एक्शन लिया गया।

इस ऑपरेशन को सही ढंग से अंजाम देने के लिए डीजीपी उत्तराखंड अशोक कुमार ने एसटीएफ टीम को एक लाख रुपए का नकद इनाम देने का ऐलान भी किया है। वहीं पकड़े गए चारों संदिग्धों की पहचान शमशेर सिंह शेरा, हरप्रीत सिंह, अजमेर सिंह उर्फ लाडी और गुरपाल सिंह के रूप में की गई है। इन चारों पर यूएपीए व आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.