ताज़ा खबर
 

यूपी: मुख्तार ही नहीं बदन सिंह बद्दो भी जुर्म की दुनिया में है मशहूर, ट्रक ड्राइवर से गैंगस्टर बनने की पूरी कहानी..

बताया जाता है कि बदन सिंह बद्दो को महंगी गाड़ियों, चश्मा और कपड़ों का शौक है। कहा जाता है कि मेरठ के कई होटल और घरों का मालिकाना हक उसी के पास है।

crime,crime newsयह गैंगस्टर महंगी लाइफ जीने का शौकीन बताया जाता है। फोटो सोर्स- सोशल मीडिया

मुख्तार अंसारी की गिनती उत्तर प्रदेश के टॉप कुख्यातों में होती है। हालांकि फिलहाल मुख्तार अंसारी जेल में हैं। लेकिन आज हम जिस गैंगस्टर का जिक्र कर रहे हैं उसपर कई मामले दर्ज हैं लेकिन वो अब तक पुलिस की गिरफ्त से दूर है। हम बात कर रहे हैं गैंगस्टर बदन सिंह बद्दो की। कहा जाता है कि साल 2019 में पुलिस ने उसे पकड़ा था लेकिन वो पुलिस वालों को चकमा देने में कामयाब हो गया। उसने पुलिस वालों से कहा कि उसने एक पार्टी दी और सभी इस पार्टी को एन्जवॉय करें और इसी दौरान वो वहां से फरार हो गया। बदन सिंह बद्दो के सिर पर ढाई लाख रुपए का इनाम भी घोषित है।

बदन सिंह के बारे में कहा जाता है कि साल 1980 के दौरान वो मेरठ में ट्रक ड्राइवर हुआ करता था। ट्रक ड्राइवर बदन सिंह बद्दो शुरू में छोटे-छोटे क्राइम किया करता था। धीरे-धीरे बदन सिंह बद्दो ने यूपी के बॉर्डर इलाकों में शराब की तस्करी शुरू की। जिसके बाद उसकी जान-पहचान जुर्म की दुनिया के बड़े अपराधियों से हुई। कहा जाता है कि बदन सिंह बद्दो ने इस दौरान बड़ा नेटवर्क भी खड़ा किया।

बदन सिंह बद्दो पर साल 1988 में पहली बार हत्या का केस दर्ज हुआ था। बताया जाता है कि उसने दिनदहाड़े मेरठ के गुदरी बाजार कोतवाली में राजकुमार नाम के एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी। पश्चिमी यूपी के क्राइम नेटवर्क में बद्दो का नाम फैलने लगा था। इसके बाद बद्दो पर साल 1996 में वकील रवींद्र गुर्जर की हत्या करने का आरोप लगा था। रवींद्र गुर्जर मेरठ के वकील थे।

इस चर्चित हत्याकांड के बाद बदन सिंह बद्दो को पकड़ लिया गया था और साल 2017 में गाजियाबाद की एक अदालत ने उसे उम्रकैद की सजा सुनाई। बताया जाता है कि इस दौरान उसने 2 साल जेल की सजा भी काटी। मार्च 2019 में उसे जब एक अन्य मामले में पेशी के लिए गाजियाबाद कोर्ट लाया गया था तब वो पेशी के बाद वो पुलिसवालों को चकमा देकर फरार हुआ था और फिर आज तक पकड़ा नहीं गया।

बताया जाता है कि बदन सिंह बद्दो को महंगी गाड़ियों, चश्मा और कपड़ों का शौक है। कहा जाता है कि मेरठ के कई होटल और घरों का मालिकाना हक उसी के पास है। बताया जाता है कि बदन सिंह बद्दो पंजाब के अमृतसर का रहने वाला था। बाद में उसका परिवार यूपी के मेरठ में चला आया। बद्दो पर हत्या, जबरन वसूली, अवैध हथियारों की सप्लाई जैसे मामलों में 30 से ज़्यादा केस दर्ज हैं। उस पर 2011 में जिला पंचायत सदस्य संजय गुज्जर की हत्या और 2012 में केबल मैनेजर पवित्र मैत्रेय की हत्या के केस हैं।

Next Stories
1 महिला कलेक्टर ने BJP कार्यकर्ता को जड़ा था थप्पड़, ASI को भी तमाचा मार रहीं सुर्खियों में; IAS निधि निवेदिता की कहानी
2 सपा नेता की गाड़ी में राइफल मिली तो लगाई थी क्लास, जानिए कौन हैं किडनी रैकेट का भंडाफोड़ करने वाली IPS मंजिल सैनी
3 16 गोलियां बरसा बटोरी सुर्खियां, 32 मामलों के आरोपी को 4 राज्यों की पुलिस कर रही थी तलाश; गैंगस्टर तोतला का हुआ यह अंजाम..
ये पढ़ा क्या?
X