‘खाल खीच लूंगा, जमीन में गाड़ दूंगा’;…जब DM पर धमकाने का लगा था आरोप

उस वक्त सीएमओ ने यह भी बताया था कि मीटिंग में कोविड-19 के अस्पतालों के भोजन व्यवस्था प्रभारी डॉ. मनोज शुक्ला के अनुपस्थित होने का मसला उठा था।

crime, crime newsडीएम वैभव श्रीवास्तव (दाएं) ने सीएमओ (बाएं)। फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट, यूट्यूब

कभी-कभी प्रशासनिक अधिकारियों के बीच होने वाली तू-तू-मैं-मैं चर्चा का विषय बन जाती है। आज हम बात करेंगे एक जिलाधिकारी की जिनपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अभद्रता का आरोप लगाया था। मामला साल 2020 का है। उस वक्त उत्तर प्रदेश के रायबरेली में वैभव श्रीवास्तव बतौर जिलाधिकारी तैनात थे। सितंबर के महीने में जिलाधिकारी ने जिले की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं और कोविड-19 की व्यवस्था को लेकर कैंप कार्यालय में एक बैठक बुलाई थी।

इस बैठक में संबंधित विभाग से जुड़े कई अफसर और अन्य सरकारी कर्मचारी मौजूद थे। इस बैठक के बाद रायबरेली के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर संजय कुमार शर्मा की एक चिट्ठी मीडिया में सामने आई थी। इसमें सीएमओ ने आरोप लगाया था कि ‘उन्होंने मुझे गधा कह कर संबोधित किया। इतने पर ही वह नहीं रूके, उन्होंने मुझे जमीन में गाड़ दूंगा तथा तुम्हारी खाल खींच दूंगा कहकर धमकी भी दी।’ यह खत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक को लिखी गई थी और इस मामले में उचित कार्रवाई की मांग भी की गई थी।

उस वक्त सीएमओ ने यह भी बताया था कि मीटिंग में कोविड-19 के अस्पतालों के भोजन व्यवस्था प्रभारी डॉ. मनोज शुक्ला के अनुपस्थित होने का मसला उठा था।

(यह चिट्ठी सुर्खियों में रही थी। सोर्स- सोशल मीडिया)

डीएम को बताया गया कि डॉ. शुक्ला की पत्नी कैंसर पीड़ित हैं। उनकी लखनऊ में डायलिसिस होनी थी। फोन पर उन्होंने पत्नी के इलाज के लिए छुट्‌टी मांगी थी, जिसे स्वीकृत कर दिया था। इसी बात पर डीएम नाराज हो गए थे।

बाद में इस मामले में डीएम वैभव श्रीवास्तव ने भी सामने आकर अपनी सफाई दी थी। उन्होंने कहा था कि ‘सीएमओ काम में शिथिलता बरत रहे थे, इस कारण मुझे गुस्सा आया और मैंने कहा कि खाल खींचकर भूसा भरा दूंगा, मैंने कोई गाली नहीं दी।’ बाद में इस मामले में प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ ने इमरजेंसी मीटिंग भी की थी और इस विवाद को सुलझाने की कोशिश की गई थी।

Next Stories
1 डिप्टी सीएम को कार्यक्रम की नहीं दी थी इजाजत, मशहूर IAS जयदेव सारंगी की कहानी
2 3 महीने में ढूंढ निकाले 76 लापता बच्चे, 2 नदियां लांघ बच्चे को जिंदा बरामद करने वाली जाबांज सीमा ढाका की कहानी
3 ‘मैं बहुत खतरनाक आदमी हूं’, …जब कांग्रेस विधायक भरी भीड़ में महिला अफसर को हड़काने लगे
आज का राशिफल
X