ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: COVID-19 की वजह से पैरोल पर छोड़े गए कैदियों का नहीं मिल रहा सुराग, 1370 बंदियों के गायब होने से पुलिस के उड़े होश

इन सभी को 8 हफ्ते के लिए पैरोल पर रिहा किया गया था। इसके बाद इस विशेष पैरोल को 8-8 सप्ताह के लिए तीन बार बढ़ाया भी गया।

uttar pradesh, mathuraपैरोल पर रिहा किये गये कई कैदियों को कुछ भी सुराग नहीं मिल रहा है। सांकेतिक तस्वीर।

COVID-19 की वजह से उत्तर प्रदेश के विभिन्न जेलों में बंद करीब 2256 सजायाफ्ता कैदियों को पैरोल पर रिहा किया गया था। ऐसा इसलिए किया गया था ताकि जेल से भीड़ कम हो और कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने में मदद मिले। यूपी पुलिस के सामने अब समस्या यह खड़ी हो गई है कि जिन कैदियों को पैरोल पर रिहा किया गया था उनमें से कई कैदी पैरोल की मियाद खत्म होने के बाद भी जेल में वापस नहीं लौट रहे। पुलिस को आशंका है कि यह कैदी फरार हो गए हैं और इन्हें खोजना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

दरअसल 2256 कैदियों को कोर्ट के आदेश पर पैरोल मिला था। इन सभी को 8 हफ्ते के लिए पैरोल पर रिहा किया गया था। इसके बाद इस विशेष पैरोल को 8-8 सप्ताह के लिए तीन बार बढ़ाया भी गया। इन कैदियों को ताकीद की गई थी कि पैरोल की अवधि खत्म होने या सरकारी आदेश मिलने पर उन्हें वापस जेल में आना होगा।

इस संबंध में 19 नवंबर को सभी रिहा किये गये कैदियों को कारागार में वापस आने का आदेश प्रशासन की तरफ से दिया गया। कोरोना के असर कम होने और काफी वक्त बीत जाने के बाद प्रशासन ने कैदियों को वापस बुलाने का निर्णय लिया था।

प्रशासन के आदेश के बावजूद अब तक करीब 1370 कैदी जेल में वापस नहीं लौटे हैं। यानी इनके बारे में उत्तर प्रदेश पुलिस को कोई सुराग नहीं लग रहा है। यह सभी कैदी फरार हो गये या फिर अंडरग्राउंड हो गए इसके संबंध में अभी तक पुलिस को कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। इन कैदियों को तलाशने के लिए विभिन्न जिलों के पुलिस अधीक्षकों को जेल अधीक्षकों ने चिट्ठी लिखी है कि वो इन लोगों को जल्द से जल्द पकड़ कर जेल भेजने में सहायता करें।

आपको बता दें कि रिहा किए गए कुल 2256 बन्दियों में से पैरोल के दौरान 4 की मौत हो गई थी। इनमें से 136 की अंतिम रूप से रिहाई हो गई और 56 अन्य वाद में जेल में निरुद्ध हैं। 193 को छोड़कर शेष 2063 बन्दियों को पुनः जेल में दाखिल होना था, जिसमें से पैरोल पर रिहा हुए कुल 693 बन्दी विभिन्न जेलों में वापस आ चुके हैं। पैरोल खत्म होने के बाद भी खुली हवा में सांस ले रहे बाकी कैदियों की तलाश अब भी जारी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी में पुलिसवाले पर महिला के यौन शोषण का आरोप तो बिहार में महिला से गंदी हरकत करते धऱाया ASI, लोगों ने पीट कर VIDEO किया वायरल
2 पत्रकार हत्याकांड में नया खुलासा, पुलिस का दावा- सैनिटाइजर के जरिए जर्नलिस्ट को किया गया था आग के हवाले; हमलावरों में ग्राम प्रधान का बेटा भी
3 मध्य प्रदेश: BJP के बजाए BSP को दिया वोट, दबंगों ने दलित परिवार को गांव से निकाला, आरोप के बाद एसपी ने शुरू की जांच
ये पढ़ा क्या?
X