ताज़ा खबर
 

ISIS संदिग्ध आतंकी के घर से मिली सुसाइड बम जैकेट, विस्फोटक; पत्नी बोली- मैं मना करती थी, पिता ने कहा- पता होता तो बेघर कर देता

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूसुफ ने पूछताछ में पुलिस को बताया है कि उसकी अयोध्या में राममंदिर शिलान्यास के एक महीने के भीतर आतंकी हमला करने की योजना थी।

uttar pradesh, delhi, isisखुलासा हुआ है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के एक महीने के अंदर धमाके की साजिश थी। फोटो सोर्स – ANI

दिल्ली से पकड़े गए संदिग्ध ISIS ऑपरेटिव अबु यूसुफ को लेकर कई बड़े खुलासे अब हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर के रहने वाले यूसुफ के घर आज पुलिस की टीम पहुंची। घर से तफ्तीश के दौरान भारी मात्रा में विस्फोटक और कथित तौर पर फिदायीन हमले के लिए तैयार किया गया जैकेट बरामद किया गया है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के DCP प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि अबू यूसुफ के गांव में की गई रेड में 2 विस्फोटक जैकेट, 3 किलो की विस्फोटक बैल्ट, 9 किलो रॉ विस्फोटक, बॉल बीयरिंग्स, 7 सिलेंडर की शेप के बक्से, टाइमर, 4 बैट्री, ISIS का झंडा, एक बोर्ड भी मिला जिस पर ये एयरगन से टारगेट प्रैक्टिस करता था।

‘पत्नी से कहा – किसी को मत बताना’: घर से विस्फोटक सामान मिलने के बाद अबू युसूफ की पत्नी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि ‘वो मेरे ऊपर सख्ती कर रहे थे कि किसी को मत बताना। मुझे बहुत अफसोस है। मेरे चार बच्चे हैं, मैं बच्चों को लेकर कहां जाऊंगी। इस बार उनकी गलती को माफ कर दिया जाए।’ उन्होंने कहा कि ‘लगभग दो साल से वो थोड़ा-थोड़ा कर के सामान (बारूद) लाते थे और एक खाली बक्से में रखते थे। मैं नहीं जानती कि इसकी ट्रेनिंग उन्होंने मोबाइल से ली या किसी और से और वो ये किसके लिए कर रहे थे। उनको बाबरी मस्जिद से कोई लगाव नहीं था’

‘पता होता तो बेघर कर देता’: वहीं अबू युसूफ के पिता ने कहा कि ‘मैंने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में लिखवाई थी। मुझे कुछ पता नहीं था वरना उसको रोकता, घर से निकाल देता। अब तो जो भी करेगी पुलिस करेगी। मैं चाहता हूं कि एक मर्तबा उसे माफी दे दें और वो दोबारा करे तो कुछ भी कर दीजिएगा…अबु युसुफ की रीढ़ की हड्डी खिसकी हुई है जिसका 2 साल से लखनऊ में इलाज चल रहा है। वो शुक्रवार को लखनऊ अपने मामा के बेटे की किडनी के इलाज के लिए गया था। उसने अपनी बहन को इतलाह किया कि वो उसके घर पर रुकेगा पर वहां पहुंचा नहीं और उसका फोन बंद आने लगा।’

‘घर पर था काले रंग का झंडा’: अबू युसूफ के भाई आकिब ने कहा कि ‘मुझे ISIS के झंडे की पहचान नहीं है पर रात को झंडा देखा। काले रंग के झंडे पर सफेद रंग से अरबी में ‘अल्लाह हू अकबर ला इलाहा इल्लल्लाह मुहम्मदुन रसूलुल्लाह’ लिखा था। वो सऊदी और अन्य जगहों पर रहे थे।’

दिल्ली और यूपी को दहलाने का मंसूबा पालने वाले संदिग्ध आतंकी मोहम्मद मुस्तकीम खान उर्फ अबू यूसुफ को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शुक्रवार देर रात एक मुठभेड़ के बाद धौला कुआं और करोल बाग के बीच सेंट्रल दिल्ली के रिज रोड एरिया से दबोचा था। संदिग्ध आतंकी के पास दो प्रेशर कुकुर आईईडी विस्फोटकों के साथ मिले थे।

अयोध्या में हमले की प्लानिंग: कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूसुफ ने पूछताछ में पुलिस को बताया है कि उसकी अयोध्या में राममंदिर शिलान्यास के एक महीने के भीतर आतंकी हमला करने की योजना थी। यूसुफ ‘लोन वुल्फ अटैक’ करने के लिए दिल्ली के कई इलाकों में रेकी कर चुका था। वह 15 अगस्त के आसपास भीड़ वाले इलाकों में हमले करने की भी फिराक में था, लेकिन कड़ी सुरक्षा होने की वजह से नाकाम रहा

यह भी कहा जा रहा है कि अगर यह संदिग्ध आतंकी दिल्ली में धमाका करने में सफल हो जाता तो उसका अगला कदम आत्मघाती हमला करने का था। उसने यह भी बताया कि आत्मघाती हमले के लिए शरीर में विस्फोटकों को बांधने वाला बेल्ट भी तैयार कर रखा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘मुझे शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया पीटा और गला दबाया’, मशहूर बिजनेस वुमन Paris Hilton ने सुनाई आपबीती
2 मध्य प्रदेश: घर के अंदर 5 लोगों के गले में फंदा और सभी के पांव जमीन से सटे, हत्या या आत्महत्या? हो रही जांच
3 छपवा रहा था करोड़ों रुपए की फर्जी NCERT किताबें, खुलासे के बाद BJP नेता का बेटा फरार, पार्टी ने किया निलंबित
ये पढ़ा क्या?
X