ताज़ा खबर
 

यूपी: अलग-अलग सरकारी स्कूलों में पढ़ाकर कई सालों तक उठाई सैलरी, खुलासा होने पर टीचर के खिलाफ जांच के आदेश

Uttar Pradesh Government Teacher Found Drawing Salaries From Different Schools: हैरानी की बात है कि प्रदीप कुमार सालों तक फर्जीवाड़ा कर एक साथ ही मुजफ्फरनगर और बरेली जिले के सरकारी प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत था और किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी।

crime, crime newsऑनलाइन जांच के दौरान इस मामले का खुलासा हुआ है। सांकेतिक तस्वीर।

Uttar Pradesh Government Teacher Found Drawing Salaries From Different Schools: उत्तर प्रदेश में एक बार फिर सरकारी स्कूल में एक शिक्षक द्वारा फर्जीवाड़ा किये जाने का मामला उजागर हुआ है। इस बार प्रदीप कुमार नाम के एक शख्स पर आरोप है कि उसने 2 अलग-अलग स्कूलों में एक साथ बच्चों को पढ़ाकर दोनों ही स्कूलों से मोटी सैलरी उठाई और राज्य सरकार को चूना लगाया।

सालों तक उठाई सैलरी: खास बात यह है कि इस शिक्षक ने राज्य के दो जिलों मुजफ्फरनगर और बरेली में एक ही साथ अपनी उपस्थिति भी सरकारी कागजों में दिखाई। हैरानी की बात है कि प्रदीप कुमार सालों तक फर्जीवाड़ा कर एक साथ ही मुजफ्फरनगर और बरेली जिले के सरकारी प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत था और किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी। पता चला है कि प्रदीप कुमार साल जून 2011 से मुजफ्फरपुर में रह रहा था और बरेली के प्राथमिक स्कूल से भी सैलरी उठा रहा था।

यूं हुआ खुलासा: इस मामले का खुलासा उस वक्त हुआ जब शिक्षा विभाग की तरफ से ऑनलाइन कुछ कागजों की जांच-पड़ताल की जा रही थी। प्रदीप कुमार ने भी अपने कागजात ऑनलाइन अपलोड किये थे। यहां के शिक्षा अधिकारी नरेंद्र सिंह ने बताया कि ‘जांच में हमने पाया है कि प्रदीप कुमार मुजफ्फरनगर औऱ बरेली के 2 अलग-अलग स्कूलों में एक साथ कार्यरत थे। उन्हें यह नौकरी कुछ कागजों के आधार पर मिली थी। अब इस मामले में जांच के आदेश दे दिये गये हैं।

चूना लगाकर हुआ गायब: बताया जा रहा है कि मुजफ्फरनगर के स्कूल में 8 साल से ज्यादा समय तक पढ़ाने के बाद प्रदीप कुमार मेडिकल लीव पर चले गए। साल 2019 के नवंबर महीने में उन्होंने यह छुट्टी ली थी। इसके बाद उसने अपना त्यागपत्र दे दिया और अब उसका कुछ भी अता-पता नहीं।

एक साथ 25 स्कूलों में पढ़ाने वाली शिक्षिका: आपको याद दिला दें कि अभी कुछ ही दिनों पहले यूपी से ही ऐसा ही एक और मामला उजागर हुआ था। पता चला था कि साइंस पढ़ाने वाली एक महिला शिक्षिका ने यहां एक साथ 25 सरकारी स्कूलों में पढ़ाया और करीब 1 करोड़ रुपए से ज्यादा का चूना सरकार को लगाया। इस महिला का नाम अनामिका शुक्ला बताया गया था और उसने एक साथ 25 Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya में फर्जीवाड़ा किया था।इस मामले के उजागर होने के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया था। आननफानन में जांच के आदेश भी दिये गये थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तमिलनाडु के एनएलसी इंडिया में बॉयलर विस्फोट में छह लोगों की मौत, परिजन को कितने की मिलेगी आर्थिक मदद? जानिए
2 बीच सड़क पुलिसवाले ने बुजुर्ग को जड़ दिया थप्पड़, वीडियो वायरल होने पर हुई कार्रवाई
3 सोनम कपूर की बहन रिया को मिली जान से मारने की धमकी, शिकायत पर Instagram ने कहा – हमारे गाइडलाइन के बाहर नहीं यह सब