ताज़ा खबर
 

मुजफ्फरनगर में गाजियाबाद जैसी घटना! भतीजी पर यौन हमले का विरोध करने पर चाचा को पीटा; हालत गंभीर

इस मामले में अमोल कुमार, अभिषेक औऱ निखिल कुमार के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। हालांकि अभी तीनों आरोपी फरार बताए जा रहे हैं।

kanpur, crime newsभतीजी पर यौन हमला हुआ तो चाचा ने इसका विरोध किया। सांकेतिक तस्वीर।

अब उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में 16 साल की नाबालिग लड़की पर यौन हमला किया गया। तीन लोगों ने लड़की के साथ दुर्व्यवहार किया और जब लड़की के चाचा ने इसका विरोध किया तो उनकी पिटाई कर दी गई। पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले की जानकारी दी है। बताया जा रहा है कि लड़की पर यौन हमले का विरोध कर पर उसके चाचा को डंडे से पीटा गया है और अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

इस मामले में अमोल कुमार, अभिषेक औऱ निखिल कुमार के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। हालांकि अभी तीनों आरोपी फरार बताए जा रहे हैं। आपको बता दें कि गुरुवार को ही मुजफ्फनगर के पड़ोसी राज्य शामली में एक महिला की सरेराह अपहरण की कोशिश की गई। बताया जा रहा है कि यह महिला कुछ सामान खरीदने के लिए घर से बाहर निकली थीं। तब ही रास्ते में तीन युवकों ने उनके अपहरण की कोशिश की। हालांकि किसी तरह महिला ने खुद को बदमाशों से बचा लिया। इस मामले में भी अभी तक तीनों आरोपी फरार हैं।

आपको याद दिला दें कि हाल ही में गाजियाबाद में एक पत्रकार विक्रम जोशी को भी अपराधियों ने उस वक्त गोली मार दी थी। विक्रम जोशी ने अपनी भांजी के साथ छेड़खानी का विरोध किया था। बताया जा रहा है कि कुछ लड़के विक्रम जोशी की भांजी से छेड़खानी करते थे और विक्रम ने जब इन लड़कों का विरोध किया था तब कुछ ही दिनों बाद इन सभी ने मिलकर उन्हें सरेआम गोली मार दी थी।

विक्रम जोशी को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी मौत हो गई। इस मामले में भी पुलिस पर आऱोप लगे थे कि समय पर एक्शन ना लेने की वजह से ही अपराधियों का मनोबल बढ़ा औऱ उन्होंने इस हत्याकांड को अंजाम दिया था। विक्रम जोशी को गोली मारने का एक वीडियो भी सामने आया था।

ना सिर्फ मुजफ्फरनगर, शामली और गाजियाबाद में पुलिसिया कार्रवाई पर सवाल उठे हैं बल्कि कानपुर में अपहरण के बाद हुई संजीत यादव की हत्या में भी पुलिस की भूमिका पर गंभीर सवाल उठे हैं। परिजनों का कहना है कि एक महीना पहले संजीत यादव का अपहरण कर लिया गया और पुलिस के ही कहने पर किडनैपर्स को फिरौती की रकम दी गई लेकिन पुलिस संजीत यादव की सकुशल वापसी नहीं करा सकी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Kanpur Lab Technician Sanjit Case: संजीत यादव की अब तक नहीं मिली लाश, जारी है तलाश
2 राजस्थान: किसानों को मिलने वाला उर्वरक मलेशिया, सिंगापुर भेज दिया; पढ़िए CM अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन पर क्या है आरोप
3 आंध्र प्रदेश: थाने में पुलिसवालों पर दलित युवक को पीटने और सिर मुंडवाने का आरोप, हुए सस्पेंड; केस दर्ज
यह पढ़ा क्या?
X