ताज़ा खबर
 

पैर पकड़ गिड़गिड़ा रहा था, जब भाजपा नेता ने युवक की सरेआम कर दी थी लात-घूंसे से पिटाई; VIDEO वायरल होने पर मचा था हंगामा

दरअसल बीजेपी के तत्कालिन नगर अध्यक्ष संतोष पांडे पर आरोप लगा था कि उन्होंने वाराणसी में एक मेडिकल स्टोर के सामने एक युवक को लात-घूंसे से पीटा था।

crime, crime newsफोटो सोर्स- वीडियो स्क्रीनशॉट, फेसबुक

नेताओं की दबंगई की कई तस्वीरें अक्सर सामने आती रहती हैं। इन तस्वीरों पर अक्सर कई तरह की प्रतिक्रियाएं आती रहतीं हैं। आज हम बात कर रहे हैं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता संतोष पांडे की। साल 2020 में भाजपा नेता संतोष पांडे का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वो सड़क पर एक युवक की पिटाई करते नज़र आ रहे थे।

दरअसल बीजेपी के तत्कालिन नगर अध्यक्ष संतोष पांडे पर आरोप लगा था कि उन्होंने वाराणसी में एक मेडिकल स्टोर के सामने एक युवक को लात-घूंसे से पीटा था। इस युवक पर जालसाज़ी का आरोप था। आरोप था कि युवक ने बिना पैसे दिए दवाइयां ले ली थीं। उस वक्त दुकानदार और इस शख्स के बीच कहा-सुनी हो गई थी। जिसके बाद वहां पहले से मौजूद भाजपा नेता और दुकानदार ने मिल कर आरोपी शख्स की पिटाई कर दी थी।

जो वीडियो वायरल हुआ था उसमें यह शख्स भाजपा नेता के पैर पकड़ विनती करता हुआ नज़र आ रहा था लेकिन भाजपा नेता को उस पर तरस नहीं आई थी। वहां मौजूद एक अन्य शख्स ने इस घटना को अपने मोबाइल में कैद कर लिय़ा था जिसके बाद इसका वीडियो वायरल हो गया था।

यह भी कहा गया था कि बीच सड़क युवक के पिटाई के अलावा उनके साथ गाली-गलौज भी की गई थी। इस घटना के वीडियो पर उस वक्त कई लोगों ने अपनी तरफ से प्रतिक्रियाएं दी थी और कार्रवाई की मांग भी उठाई थी।

दवा दुकानदारों द्वारा उस वक्त घटना के बाद आरोप लगाया गया था कि आशीष शराब के नशे में था। वह बारी-बारी से दवा की दुकानों पर जाकर दवा लेता था। फिर पांच सौ रुपये देने की बात कहकर बाकी पैसे वापस करने का दबाव बनाता था। मना करने पर गाली गलौच करता था।

कई दुकानदारों ने तो उसे दवा और पैसे भी दे दिए थे। मगर, संतोष मेडिकल स्टोर पर उसे पकड़ लिया गया। जिसके बाद उसकी पिटाई की गई। हालांकि इसकी तहरीर नहीं दी गई है। कोतवाली प्रभारी संजय सिंह ने उस वक्त बताया था कि सूचना पर चौकी इंचार्ज जिला अस्पताल दिलीप कुमार राय वहां गए और आशीष को पकड़कर लाए। वह नशे में धुत था।

Next Stories
1 दाऊद की शर्त- मेरा एनकाउंटर नहीं करना, जब सरेंडर के लिए डॉन ने भारत सरकार के सामने रखी थीं 3 शर्तें
2 23 लाख रुपए का पैकेज छोड़ दिया था, कई जिम्मेदारियों और सेल्फ स्टडी से IAS बनीं काजल ज्वाला की कहानी…
3 दांत से काटकर उतार दिया था मौत के घाट, कुख्यात गैंगस्टर की हत्या के बाद पुलिस के सामने नाचने लगे थे हत्यारे
यह पढ़ा क्या?
X