ताज़ा खबर
 

क्राइम कुंडली: विधायक की बेटी ने 8 लोगों को मारा, 2 बहनों ने कई बच्चों को सुलाया मौत की नींद; शबनम से भी भयानक है इन महिलाओं का जुर्म

बताया जाता है कि पैसों की तंगी की वजह से अंजना ने चोरी का काम शुरू किया और फिर उसने इस काम में अपनी दोनों बेटियों को भी शामिल कर लिया।

crime, crime newsसांकेतिक तस्वीर। फोटो सोर्स – एक्सप्रेस अर्काइव

उत्तर प्रदेश के अमरोहा के बाबनखेड़ी गांव की रहने वाली शबनम पर 7 लोगों की हत्या का आरोप है। अदालत से उसे फांसी की सजा मिली है और अब यह भी मुमकिन है कि उसे फांसी हो जाए। लेकिन आज हम बात उन 3 महिलाओं की कर रहे हैं जिनके जुर्म के आगे शायद शबनम का गुनाह भी छोटा पड़ जाए।

हरियाणा के हिसार से कभी विधायक रहे रेलुराम की बेटी सोनिया के जुर्म की दास्तान ने लोगों को हिला कर रख दिया गया था। सोनिया और उसके पति संजीव पर इल्जाम लगा था कि 23 अगस्त 2001 को इन दोनों ने मिलकर अपने ही परिवार के 8 सदस्यों की हत्या कर दी थी।

संपत्ति की लालच में आकर सोनिया ने यहां तक के अपने विधायक पिता को भी नहीं बख्शा था। इस मामले ने उस वक्त काफी सुर्खियां बटोरी थीं। साल 2004 में सेशन कोर्ट ने इस मामले के दोषियों को फांसी की सजा सुनाई। आगे इस सजा को हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने बरकरार रखा। मौत की सजा से बचने के लिए इस दंपती ने राष्ट्रपति के पास भी दया याचिका लगाई लेकिन उस वक्त राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इनकी दया याचिका को खारिज कर दिया था।

2 बहनों ने कई बच्चों को मारा:

2 बहनों की क्रूरता की इस सच्ची घटना ने देश ही नहीं बल्कि दुनिया का ध्यान खींचा था। आज भी यह दोनों बहनें पुणे के यरवदा जेल में बंद हैं। निचली अदालत ने इन दोनों को फांसी की सजा सुनाई है जिसे सुप्रीम कोर्ट ने भी बरकरार रखा है। हम बात कर रहे हैं रेणुका और सीमा की। कहा जाता है कि इन दोनों और इनकी मां अंजना गावित ने मिलकर 42 बच्चों की हत्या की थी। हालांकि अदालत में इनपर 13 किडनैपिंग और 6 हत्याओं का मामला ही साबित हो पाया।

नासिक की रहने वाली अंजना गावित की दोनों बेटियां आपस में सौतेली बहनें थीं। बताया जाता है कि पैसों की तंगी की वजह से अंजना ने चोरी का काम शुरू किया और फिर उसने इस काम में अपनी दोनों बेटियों को भी शामिल कर लिया। जल्दी ही ये लोग मासूम बच्चों की किडनैपिंग और पैसे वसूली के काम में लग गए। बच्चों को अगवा करने के बाद यह दोनों बहनें जमीन पर उन्हें पटक-पटक कर मौत के घाट उतार देती थीं। साल 1990 से लेकर 1996 तक इन दोनों बहनों की दहशत काफी ज्यादा रही है। रेणुका और सीमा की मां की मौत जेल में ही हुई थी। अदालत ने इन दोनों बहनों को मौत की सजा सुनाई है।

Next Stories
1 ओडिशा गैंगरेप कांड: CM को देना पड़ा था इस्तीफा, 22 साल बाद धरा गया IFS अधिकारी की पत्नी से दुष्कर्म का आरोपी
2 दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आया जसप्रीत सिंह, 26 जनवरी को लालकिले के गुंबज पर की थी चढ़ाई
3 यूपी: बागपत में कोहराम! बीच सड़क 2 पक्षों के बीच लाठी-डंडे से मारपीट में कई घायल, 8 अरेस्ट; VIDEO वायरल
ये पढ़ा क्या?
X