ताज़ा खबर
 

CM का फर्जी हस्ताक्षर कर राहत फंड से निकालते रहे पैसे, गोरखपुर से पकड़े जाने के बाद मची खलबली

पुलिस का यह भी दावा है कि पूछताछ के दौरान आरोपियों ने खुद कबूल किया है कि इससे पहले भी इनलोगों ने कई राज्यों में इस फर्जीगिरी के जरिए पैसे निकाले हैं।

crime, crime news, uttar pradeshपता चला है कि कई चेक पर जाली साइन कर कई राज्यों से पैसे निकाले गये। प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स – Indian Express

मुख्यमंत्री का फर्जी हस्ताक्षर कर पैसे निकालने वाले गिरोह का भंडाफोड़ होने से खलबली मच गई है। इस मामले में पुलिस ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और बस्ती जिले से 5 लोगों को पकड़ा है। इन सभी पर आरोप है कि यह लोग असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल के नाम से जाली हस्ताक्षर करते थे और राहत बचाव कार्य के पैसे निकाल लेते थे। इस गैंग का पर्दाफाश करने के बाद पुलिस ने जानकारी दी है कि यह लोग फर्जीवाड़ा कर सीएम रिलीफ फंड से पैसे निकाला करते थे।

दरअसल कुछ दिनों पहले गुवाहाटी में मुख्यमंत्री कार्यालय ने राहत फंड में हुए ट्रांजेक्शन को लेकर गड़बड़ी पाई थी। जिसके बाद स्पेशल विजिलेंस सेल को इस मामले की जांच करने और इसे 15 दिनों के अंदर सुलझाने का निर्देश दिया गया था। इस सेल के पुलिस अधीक्षक Rosie Kalita ने 12 अगस्त को एफआईआऱ दर्ज कराई थी। एफआईआर में इस बात का जिक्र किया गया था कि फर्जी सिग्नेचर के जरिए हरियाणा और उत्तर प्रदेश में पैसे निकाले गये हैं।

मामले की जांच के दौरान जांच सेल के 7 पुलिसकर्मियों ने गोरखपुर और बस्ती के कुछ इलाकों में छापेमारी की और 5 लोगों को पकड़ा। इस बात की जानकारी पुलिस अधीक्षक ने मीडिया को दी है। पुलिस का यह भी दावा है कि पूछताछ के दौरान आरोपियों ने खुद कबूल किया है कि इससे पहले भी इनलोगों ने कई राज्यों में चेक पर फर्जीगिरी के जरिए पैसे निकाले हैं।

पुलिस ने बताया कि इस मामले की छानबीन के दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस ने उनका पूरा सहयोगा किया। फर्जी तरीके से निकाली गई रकम को बरामद कर लिया गया है। आपको याद दिला दें कि इसी साल जनवरी के महीने में जम्मू-कश्मीर से भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था। यहां पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के जाली हस्ताक्षर से सुविधा लेने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। आरोप लगा था कि 2 साल पहले इस व्यक्ति ने वैष्णो देवी जाने के दौरान हेलीकॉप्टर का टिकट लेने के लिए महबूबा मुफ्ती का फर्जी हस्ताक्षर किया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 केरल: CPI (M) कार्यकर्ताओं की हत्या पर बोली पार्टी- कांग्रेस का हाथ, शीर्ष नेताओं को थी खबर; 3 हिरासत में
2 सुशांत सिंह राजपूत को फार्म हाउस पर एक स्टार ने दी थी धमकी रिया सिर्फ मुखौटा, मशहूर निर्देशक का दावा
3 SUV का काफिला लेकर आए चीनी सैनिक, भारतीय सैनिकों के साथ झड़प की रात क्या हुआ? पढ़ें
ये पढ़ा क्या?
X