डॉक्टरी छोड़कर शुरू की थी UPSC की तैयारी, महिला की बात ऐसी चुभी कि प्रियंका शुक्ला बन गईं IAS

प्रियंका शुक्ला ने साल 2009 में UPSC एग्जाम क्लियर किया था। इससे पहले वह बतौर डॉक्टर प्रैक्टिस कर रही थीं। लेकिन एक बात ने उन्हें आईएएस बनने की प्रेरणा दी।

Priyanka Shukla IAS
IAS प्रियंका शुक्ला (Photo- Priyanka Shukla/Instagram)

IAS प्रियंका शुक्ला सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में रहती हैं। वह कई मुद्दों पर अपनी राय देती हैं और साथ ही पढ़े-लिखे युवाओं को UPSC क्लियर करने के लिए प्रेरणा भी देती रहती हैं। प्रियंका आज भले ही IAS अधिकारी हैं, लेकिन उनके लिए ये सफर बिल्कुल भी आसान नहीं था। प्रियंका ने 12वीं के बाद MBBS की पढ़ाई की थी। इसके बाद उन्होंने डॉक्टरी की प्रैक्टिस भी शुरू कर दी थी।

प्रियंका ने साल 2009 में यूपीएससी एग्जाम क्लियर किया था। इसी के साथ उनके बचपन का सपना भी पूरा हो गया था क्योंकि उन्हें उनका पसंदीदा IAS भी मिल गया था। इससे पहले भी उन्होंने एक प्रयास दिया था, लेकिन उनका चयन नहीं हो पाया था। प्रियंका ने इसके बाद भी हार नहीं मानी और अपनी तैयारी जारी रखी। उन्होंने अपनी रणनीति में कई बदलाव किए और सिलेबस को दोबारा कवर किया था।

महिला की कही बात लगी दिल पर: प्रियंका शुक्ला ने लखनऊ की किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस की थी। वह डॉक्टर बनकर बेहद खुश थीं और उन्होंने अपनी प्रैक्टिस भी शुरू कर दी थी। लेकिन इस दौरान उनके साथ कुछ ऐसा हुआ कि उन्होंने कलेक्टर बनने की ठानी। एक बार प्रियंका स्लम एरिया की जांच के लिए गई थीं। यहां एक महिला गंदा पानी पी रही थी।

महिला अपने बेटे को भी गंदा पानी पिला रही थी। प्रियंका को ये बात नागवार गुजरी। उन्होंने महिला को ऐसा करने से रोका। प्रियंका की सलाह पर महिला ने तुरंत जवाब दिया था- क्या तुम कहीं की कलेक्टर हो? ये बात प्रियंका को बहुत चुभी और उन्होंने उसी पल IAS अधिकारी बनने का फैसला किया। प्रियंका को मालूम था कि यूपीएससी क्लियर करने के लिए बहुत मेहनत चाहिए।

प्रियंका शुक्ला को मिला राष्ट्रपति से सम्मान: प्रियंका शुक्ला के छत्तीसगढ़ कैडर मिला था और वह राज्य में कई अहम पदों पर अपनी सेवा दे चुकी हैं। प्रियंका को उनके बेहतरीन काम के कारण राष्ट्रपति सम्मान भी मिल चुका है। प्रियंका से एक इंटरव्यू में उनके यहां तक के सफर के बारे में पूछा गया था।

उन्होंने कहा था, यूपीएससी को अगर आप अपना लक्ष्य बना चुके हैं तो उसे हर हालात में पास करने का प्रयास करो। कई बार असफलता से निराशा तो जरूर होती है, लेकिन लगातार प्रयास करने से कामयाबी भी जरूर मिलती है।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।