इंटरनेट की मदद से भी हो सकती है UPSC की तैयारी; IAS अधिकारी अंशुमन राज ने बताया सफलता का मूल-मंत्र

IAS अधिकारी अंशुमन राज ने UPSC में अपनी कामयाबी के पीछ इंटरनेट का अहम योगदान बताया है। अंशुमन ने कहा कि उन्होंने इंटरनेट से ही पढ़ाई की थी, जिसमें उन्हें सफलता हासिल हुई।

Anshuman Raj
IAS अधिकारी अंशुमन राज (फोटो- Anshuman Raj/Twitter)

भारत में इंटरनेट एक्सेस आजकल हर किसी के पास है। आज एक ऐसे IAS अधिकारी का कहानी बताएंगे जिन्होंने अपनी कामयाबी में इंटरनेट का अहम योगदान बताया है। इस IAS अधिकारी का नाम है अंशुमन राज। अंशुमन ने चौथे प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा क्लियर की थी और इसमें अच्छा स्थान प्राप्त किया था। अंशुमन ने चौथे प्रयास में UPSC 2019 में 107 रैंक प्राप्त की थी, जिसके बाद वह IAS बनने में कामयाब हुए थे।

अंशुमन ने एक इंटरव्यू में बताया था, ‘UPSC में सफलता प्राप्त करने के लिए आपको अपनी तैयारी सही प्लानिंग के साथ करनी चाहिए। यूपीएससी का सिलेबस इतना ज्यादा होता है कि अगर आप बिना रणनीति और स्टडी मटेरियल के तैयारी करेंगे, तो उसे आप कई साल में भी कंप्लीट नहीं कर पाएंगे। उनका मानना है कि कड़ी मेहनत के साथ स्मार्ट वर्क भी जरूरी होता है। इसलिए सीमित किताबों के साथ तैयारी करनी चाहिए। इससे आप रिवीजन भी आसानी से कर पाएंगे।’

राइटिंग प्रैक्टिस से यूपीएससी में मिलती है मदद: अंशुमन ने कहा, ‘अगर आप UPSC की तैयारी करना चाहते हैं तो आप घर बैठकर भी ऐसा कर सकते हैं। जरूरी नहीं कि आप इसके लिए दिल्ली या किसी बड़े शहर में जाकर रहें। सबसे पहले आप सिलेबस को अच्छी तरह दिमाग में बैठा लें और उसके अनुसार प्लानिंग करें और किताबें इकठ्ठा करें। जहां भी आपको परेशानी हो वहां इंटरनेट की मदद लें। वे कहते हैं कि कड़ी मेहनत, ज्यादा से ज्यादा रिवीजन और आंसर राइटिंग प्रैक्टिस करके आप इस परीक्षा को पास कर सकते हैं।’

बिहार के बक्सर के रहने वाले अंशुमन का बचपन से ही IAS अधिकारी बनने का सपना था और वह इसके लिए कड़ी मेहनत भी कर रहे थे। कोलकाता से ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने यूपीएससी में भी अपना पूरा समय देने का फैसला किया। तीन प्रयासों में असफलता हाथ लगने के बाद भी वह नहीं रुके और अपनी मेहनत करने में लगे रहे। वह पहले से ही जानते थे कि इसके लिए अच्छी रणनीति की जरूरत होगी। उन्होंने अपना सिलेबस छोटा करने के लिए नोट्स भी बनाए और मुश्किल को आगे नहीं आने दिया।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट