ताज़ा खबर
 

इंजीनियर थे वर्णित नेगी, लाखों की नौकरी छोड़ शुरू की UPSC की तैयारी, आज हैं IAS अधिकारी

वर्णित नेगी का जीवन उन सभी कैंडिडेट के लिए प्रेरणा है जो UPSC की परीक्षा देना चाहते हैं। वर्णित ने लाखों की नौकरी छोड़ यूपीएससी की तैयारी शुरू की थी। उन्होंने इसमें सफलता हासिल की और आज वह IAS हैं।

वर्णित नेगी ने लाखों की नौकरी छोड़ शुरू की थी UPSC की तैयारी (Photo- Facebook)

UPSC एग्जाम में किसी कैंडिडेट को पहले अटेंप्ट में सफलता हासिल हो जाती है तो कुछ कई सालों तक इसके लिए संघर्ष करता रहता है। आज एक ऐसे ही कैंडिडेट की बात करेंगे जिन्होंने न सिर्फ तीन बार यूपीएससी का एग्जाम दिया बल्कि आईएएस बनने के लिए लाखों की नौकरी भी छोड़ दी थी। इस आईएएस अधिकारी का नाम है वर्णित नेगी। वर्णित ने इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन की थी।

वर्णित नेगी शुरू से ही पढ़ाई में बहुत होशियार थे। उन्होंने इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन की थी। इस दौरान उन्हें यूपीएससी एग्जाम देने का ख्याल आया। वर्णित नेगी ने न सिर्फ यूपीएससी एग्जाम दिया बल्कि इसे क्लियर भी कर लिया था। यूपीएससी एग्जाम की तैयारी करने से पहले उन्हें पता था कि सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक UPSC की तैयारी नौकरी से साथ तो बिल्कुल नहीं हो सकती।

वर्णित नेगी ने सबसे पहले साल 2016 में UPSC एग्जाम दिया था। हालांकि इसमें उन्हें कामयाबी हासिल नहीं हो पाई थी। इसके बाद उन्होंने अपनी रणनीति में थोड़ा बदलाव किया और सेल्फ-स्टडी पर ही पूरा फोकस रखा। दूसरे अटेंप्ट में उन्होंने यूपीएससी क्लियर कर लिया और इस बार उनकी रैंक आई थी 504। इस रैंक के साथ उन्हें IAS नहीं मिल सकता था। जबकि उनका सपना शुरू से ही IAS अधिकारी बनने का था।

वर्णित ने एक बार फिर परीक्षा देने का फैसला किया। उन्हें कई लोगों ने ऐसा नहीं करने के लिए भी कहा, लेकिन उन्होंने किसी की नहीं सुनी और उन्हें सिर्फ अपने ऊपर विश्वास था। इसी के साथ वह आगे बढ़े और परीक्षा दी। तीसरे प्रयास के लिए उन्होंने बिल्कुल अलग तैयारी की थी। उन्होंने पहले से भी ज्यादा कठिन परिश्रम किया था। ये मेहनत और तैयारी इस बार उन्हें साबित भी करनी थी।

तीसरे प्रयास में आखिरकार उन्होंने न सिर्फ यूपीएससी क्लियर की बल्कि ऑल इंडिया 13 रैंक हासिल की। इसके साथ ही उनका आईएएस अधिकारी बनने का सपना भी पूरा हो गया। वर्णित नेगी से जब इस सफलता के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा इस परीक्षा की तैयारी कर रहे कैंडिडेट को खुद पर भरोसा रखना चाहिए। वर्णित ने आगे कहा, ‘इस परीक्षा के लिए आपको आस-पास के लोगों से सहयोग मिलना भी बहुत जरूरी होता है।’

Next Stories
1 UPSC में 5वां स्थान प्राप्त करने वाली सृष्टि देशमुख ने योग को बताया सफलता का राज़, बोलीं- रोज़ाना पढ़ना भी बहुत जरूरी
2 झारखंड में साइबर अपराधियों ने उड़ाई पुलिस की नींद, सीएम को धमकी भरा ई-मेल भेजने वाले अभी भी गिरफ्त से बाहर
3 नाबालिग से रेप और सुसाइड के 11 महीने बाद दर्ज हुई FIR, फॉरेंसिक जांच के इंतजार में बैठी रही MP पुलिस
ये  पढ़ा क्या?
X