ताज़ा खबर
 

‘UPSC क्लियर करने के लिए कोचिंग की नहीं होती जरूरत’ IAS अधिकारी सर्जना यादव ने बताया तैयारी का तरीका

सर्जना यादव ने UPSC की परीक्षा तीसरे प्रयास में क्लियर की है। उन्होंने बताया कि इस परीक्षा के लिए सेल्फ स्टडी ज्यादा जरूरी होती है। इस परीक्षा के लिए ज्यादा किताबें पढ़ने की भी जरूरत नहीं होती है।

IAS अधिकारी सर्जना यादव ने सेल्फ स्टडी को बताया मूल मंत्र (Photo- Instagram)

आज एक ऐसी IAS अधिकारी की बात करेंगे जिन्होंने न सिर्फ UPSC की परीक्षा क्लियर की। बल्कि एक अलग ट्रेंड भी सेट कर दिया। सर्जना यादव ने तीसरे अटेंप्ट में यूपीएससी की परीक्षा क्लियर की, लेकिन उन्होंने इसके लिए कभी कोचिंग सेंटर का सहारा नहीं लिया। उनका पूरा जोर सेल्फ-स्टडी पर था और उन्होंने इसी के सहारे इस परीक्षा में अच्छी रैंक भी प्राप्त की।

सर्जना ने UPSC 2019 में 126 रैंक प्राप्त की थी और इसके साथ ही उनका IAS बनने का सपना भी साफ हो गया था। सर्जना मानती हैं कि उनकी सेल्फ स्टडी ने काफी मदद की। जबकि एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, ‘कोचिंग लेना या न लेना हर कैंडिडेट की अपनी व्यक्तिगत पसंद होती है। वह कोचिंग जॉइन करना चाहता है या नहीं ये तो उसे ही तय करना होगा। अगर आपको कोचिंग की जरूरत महसूस होती है तो आप जरूर जॉइन कर लें। हालांकि मैंने बिना कोचिंग के ही तैयारी की और सफलता हासिल की।’

इसके अलावा सर्जना यादव ने सलाह दी कि UPSC की परीक्षा क्लियर करने के लिए बहुत ज्यादा किताबें पढ़ने की जरूरत नहीं है। इसके लिए कम किताबें पढ़कर भी परीक्षा पास की जा सकती है। उन्होंने कहा, ‘गूगल पर विषयों की जानकारी, वीडियो और ट्यूटोरियल मिल जाएंगे जिससे आपके मन में एक भी डाउट नहीं बचेगा। इंटरनेट पर बहुत मैटीरियल मौजूद है।’

उन्होंने अपने इंटरव्यू में कहा था, ‘जिन विषयों की जानकारी पहले ही शॉर्ट फॉर्म में दी गई है उनके नोट्स न बनाएं। हालांकि जिन विषयों में चीजें पैराग्राफ में या कॉम्प्रिहेंसिव दी हुई हैं आप उनके नोट्स बना सकते हैं। यह रिवाइज करने में आपकी काफी मदद करेंगे। नोट्स बनाने में अपना सारा समय खर्च न करें।’

इसके अलावा सर्जना का मानना है कि बहुत ज्यादा टेस्ट भी देने का कोई फायदा नहीं होता है। कम समय में ज्यादा सटीक मेहनत से जरूर इस परीक्षा में कामयाबी हासिल करने में मदद मिल सकती है। रोज़ाना अखबार पढ़ने से और खबरों को बिल्कुल ध्यान से पढ़ना भी इस परीक्षा की एक तैयारी ही होती है। करेंटर अफेयर्स परीक्षा में बहुत अहम रोल प्ले करते हैं। मासिक मैग्जीन भी पढ़कर इस टेस्ट की तैयारी की जा सकती है।

Next Stories
1 बिना कोचिंग के निधि सिवाच ने क्लियर किया UPSC एग्जाम, छह महीने के लिए खुद को घर में कर लिया था बंद, आज हैं IAS
2 लॉकडाउन में बाहर घूमता था युवक, पत्नी को बताने पर दोस्त की कर दी हत्या, बाद में हो गया फरार
3 महिला को 46 साल बाद मिला खोया हुआ बटुआ, 1975 के बाद अब सोशल मीडिया ने मिलाया
ये पढ़ा क्या?
X