ताज़ा खबर
 

पिता दिल्ली पुलिस में हैं ASI, इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ UPSC में हासिल की छठी रैंक, बताया सफलता का मंत्र

विशाखा यादव को ऑल इंडिया छठी रैंक प्राप्त हुई थी। विशाखा बचपन से ही IAS बनना चाहती थीं और उन्होंने इसके लिए अपनी नौकरी भी छोड़ दी थी। उन्होंने एक प्राइवेट कंपनी में करीब दो साल तक नौकरी की थी। उन्होंने अपनी सफलता का मंत्र भी बताया।

विशाखा यादव के पिता दिल्ली पुलिस में बतौर ASI सेवाएं दे रहे हैं (Photo- Vishakha Yadav Instagram)

UPSC Exam का नाम लेते ही दिमाग में IAS, IPS और IRS सामने आते हैं। ये नौकरी हर पढ़े-लिखे युवा का सपना होता है। विशाखा यादव का भी यही सपना था और वह IAS बनने के लिए अपनी मोटी तनख्वा वाली इंजीनियरिंग की नौकरी भी छोड़ आई थीं। विशाखा के पिता दिल्ली पुलिस में बतौर ASI कार्यरत हैं और उन्हें यहीं से प्रशासनिक नौकरी में जाने की प्रेरणा मिली थी।

विशाखा के लिए भी ये चुनौती लेना कोई आसान नहीं था। एक इंटरव्यू में विशाखा ने बताया था, ‘मैं हमेशा से IAS बनना चाहती थी, ये मेरा बचपना का सपना था, लेकिन इसके लिए कदम बढ़ाने में मुझे काफी समय लग गया था। कई बार चीजें साफ होती हैं फिर भी तैयारी शुरू नहीं हो पाती। मेरे माता-पिता भी चाहते थे कि मैं सिविल सर्विसेस में जाऊं।’

विशाखा ने पूरी शिद्दत से UPSC की तैयारी शुरू की। उन्होंने दो बार एग्जाम दिया और उनका सलेक्शन नहीं हुआ और तीसरी बार में वह यूपीएससी क्लियर करने में कामयाब हो गईं। तीसरी बार में न सिर्फ उन्होंने यूपीएससी क्लियर की बल्कि छठी रैंक भी हासिल की जो कि अपने आप में बड़ी बात है।

विशाखा ने बताया था, ‘पिछले प्रयासों की सबसे बड़ी गलती थी कि मैंने बहुत सारे रिर्सोस इकट्ठा कर लिए थे जिनकी वजह से मैं ठीक से रिवीजन नहीं कर पाई और दूसरी गलती थी कि मॉक टेस्ट बहुत कम दिए थे, जिससे मेरा अभ्यास नहीं हुआ था। परीक्षा को पास करने के लिए मॉक टेस्ट बहुत जरूरी हैं जिनसे आपको यह तो पता चलता ही है कि कितने प्रश्न करने पर आप कट-ऑफ निकाल पाते हैं, साथ ही आपकी प्रैक्टिस भी हो जाती है।’

इसके अलावा विशाखा ने यूपीएससी की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को यही सलाह दी कि एक या दो दिन इसके लिए प्रयास करने से कुछ हासिल नहीं होने वाला है। इस परीक्षा को पास करने के लिए निरंतर प्रयास बेहद जरूरी है। बता दें, विशाखा की स्कूलिंग दिल्ली से ही हुई थी। वह इससे पहले एक कंपनी में दो साल तक नौकरी भी कर चुकी हैं। उनका परिवार मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मथुरा का रहने वाला है।

Next Stories
1 सेक्स रैकेट सरगना सोनू पंजाबन ने दिसंबर में छुड़ा दिए थे दिल्ली पुलिस के पसीने, पति को मरवाने के लगे थे आरोप
2 MBA की डिग्री हासिल कर मोटे पैकेज पर कर रही थीं काम, जॉब छोड़ IAS बनी थीं नेहा भोसले
3 22 सालों में कई कत्ल, पंजाब के ऑटो ड्राइवर के सीरियल किलर बनने की कहानी…
ये पढ़ा क्या?
X