ताज़ा खबर
 

UP: कन्नौज में मां ने 7 महीने के बच्चे को गला घोंटकर मार डाला, सामने आई चौंकाने वाली बात

कन्नौज जिले में मां द्वारा अपने ही 7 माह के बेटे की हत्या का मामला सामने आया है। वहीं पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया है।

Author कन्नौज | July 13, 2019 9:05 AM
मौके पर पुलिस (फोटो सोर्स: स्थानीय)

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में एक मां की के ऊपर अपने 7 महीने के दुधमुंहे बच्चे को गला घोटकर मारने का आरोप लगा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस पूरी घटना की गवाह 4 साल की बेटी ने मां की इस करतूत को बयां करते हुए कहा कि मम्मी ने ही भाई का गला दबाकर उसको मार दिया। बताया जा रहा है कि उसकी मां ने गुस्से में आकर उसकी हत्या की है। हालांकि पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

क्या है पूरा मामलाः बताया जा रहा है कि छिबरामऊ क्षेत्र निवासी एक मां ने अपने ही 8 माह के बच्चे का गला दबाकर हत्या कर दी। जब बच्चे की मौत की सूचना आसपास के लोगों तक पहुंची, तो इलाके में सनसनी फैल गई थी। जिसने भी मां की यह हैवानियत की यह बात सुनी वह सन्न रह गया। वहीं दबी जुबान में महिला और उसके सास के बीच कुछ अनबन की बात भी सामने आ रही है।

National Hindi News, 13 July 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक 

बेटी बनी मां के जुर्म का गवाहः वहीं इस मामले में गुस्से में हैवान बनी मां की हैवानियत को उसकी ही 4 साल की बेटी ने खुद अपनी ही जबान से खुलेआम कर दी है। उसने कहा कि मां ने हीं मेरे भाई का गला दबाया और उसको मार दिया है। वहीं घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

हत्या के आरोप में बहू और सास हिरासत मेंः इस घटना के बाद आपस में लड़ रही महिला और उसकी सास को पुलिस ने हिरासत में भी ले लिया है। मामले में पुलिस का कहना है कि एक बच्चे की मौत का मामला सामने आया है। पुलिस के अनुसार इस हत्या में मां के ऊपर ही आरोप लगाया जा रहा है कि उसने उसकी हत्या की है लेकिन बच्चे के बीमार होने की बात भी सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि बच्चा कुछ दिनों से बीमार था। वहीं मामले में पुलिस ने बताया कि हर पहलू पर जांच की जा रही है और पोस्टमार्टम के रिपोर्ट आ जाने के बाद अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Bihar News Today, 13 July 2019: बिहार की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अगर पुलिस चेत जाती तो बच सकती थी मासूम की जानः बताया जा रहा है कि गुरूवार (11 जुलाई) को मासूम की दादी शिकायत लेकर छिबरामऊ थाने पहुंची थी और प्रभारी को बताया की उसके नाती को उसकी मां मार देगी। लेकिन पुलिस ने उसकी शिकायत को गंभीरता से नहीं लेकर उसे थाने से भगा दिया। पुलिस पर आरोप है कि उसने मासूम की दादी को जवाब में कहा कि जब मार दे तब आना तो उसे गिरफ्तार कर लेंगे। पुलिस की लापरवाही से एक मासूम को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा अगर पुलिस ने शिकायत को गंभीरता से लिया होता तो एक मासूम जिंदा होता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App