UP के गोरखपुर में मनीष हत्याकांड के बाद एक और ‘मनीष’ की पीट-पीटकर हत्या, सरेआम गुंडागर्दी

गोरखपुर के रामगढ़ ताल इलाके में एक शख्स की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई है। कुछ दिन पहले ही इसी थाना क्षेत्र में कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की हत्या भी इसी तरह से कर दी गई थी। इस मामले में पुलिसकर्मियों पर ही हत्या का आरोप लगा था।

gorakhpur murder, manish gupta murder, manish prajapati murder, up crime, ramgarh tal police
गोरखपुर में मनीष प्रजापति की पीट-पीट कर हत्या (प्रतीकात्मक फोटो)

उत्तरप्रदेश सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर में बदमाशों के हौंसले बुलंद दिख रहे हैं। कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की मौत मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि एक और ऐसे ही मामले में मनीष प्रजापति नाम के शख्स की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई है।

मनीष प्रजापति की हत्या कुछ बदमाशों ने तब कर दी, जब वो मुफ्त में उन्हें शराब नहीं दे पाया। इससे दो दिन पहले ही इसी इलाके में एक प्रॉपर्टी डीलर की मौत हो गई थी। इस मामले में हत्या का आरोप पुलिसकर्मियों पर ही लगा है।

मिली जानकारी के अनुसार मनीष प्रजापति रामगढ़ ताल इलाके में स्थित एक मॉडल शॉप पर काम करता था। जहां कुछ लोग वहां शराब पीने आए थे। बदमाशों ने शराब का ऑर्डर दिया, तब मनीष ने उनसे पैसे मांगे। जिसपर बदमाशों ने खुद को हिस्ट्रीशीटर का भाई होने का रौब दिखाते हुए पैसे देने से इनकार कर दिया और बहस करने लगे।

बहस जल्द ही मारपीट में बदल गई। बदमाशों ने मनीष और बाद में बीच बचाव करने आए रघु को जमकर पीटा। करीब 15 मिनट से अधिक समय तक बदमाश मनीष और रघु को पीटते रहे। बताया जा रहा है कि बदमाशों ने और कुछ लोगों को भी फोन करके यहां बुला लिया था। बाद में सभी ने मिलकर इन दोनों को पीटा। पूरी घटना वहां लगी सीसीटीवी में कैद हो गई, जिसमें बदमाशों की दरिंदगी देखी जा सकती है।

जब तक पुलिस मौके पर पहुंचती सभी आरोपी फरार हो गए। थाने से आधे किलोमीटर की दूरी पर ये घटना हुई, लेकिन पुलिस के हाथ एक भी आरोपी नहीं लगे। पुलिस के आने के बाद दोनों घायलों को अस्पताल ले जाया गया, जहां मनीष को मृत घोषित कर दिया गया। रघु अभी भी अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत गंभीर है।

फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आरोपियों की पहचान करने की कोशिश कर रही है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमने सीसीटीवी फुटेज जब्त कर लिए हैं, और आरोपियों की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ संदिग्धों को पकड़ लिया गया है। आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट