ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली सीएम आवास के बाहर तीन दिन में दो चोरियां, पता नहीं लगा पाई पुलिस

मुख्यमंत्री आवास के बाहर हुई दोनों ही चोरियों के मामले में पुलिस खाली हाथ है। हालांकि पुलिस अभी भी सीसीटीवी से पहचान निकालने के प्रयास में लगी है।

Author Published on: February 4, 2019 12:26 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली में चोरों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। सुरक्षा और पेट्रोलिंग के तमाम दावे करने वाली पुलिस पर सवाल उठने लगे हैं। अब प्रदेश में अपराधी इस कदर बेखौफ हैं कि वह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के आस पास के इलाके को भी निशाना बनाने से भी नहीं हिचक रहे हैं। बीते तीन दिन में राज्य के सीएम के आवास के बाहर ही तीन दिन में दो चोरियां हुईं लेकिर पुलिस अभी तक इनका खुलासा नहीं कर सकी।

सिविल लाइन स्थित केजरीवाल के आवास के बार चोरी के मामले सामने आए। पहला मामला इस महीने की शुरुआत का है। 1 फरवरी को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात करने पहुंचे आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता की कार का शीशा तोड़कर चोर सामान उड़ा ले गए। इसके दो दिन बाद 3 फरवरी को मुख्यमंत्री आवास के एक कर्मचारी की बाइक ही चोर उड़ा ले गए।

इन मामलों के केस दर्ज करा दिए गए थे। पुलिस जांच भी कर रही है। लेकिन घटना को अंजाम देने वालों की पहचान पुलिस अभी तक नहीं कर पाई है। मुख्यमंत्री आवास के बाहर हुई दोनों ही चोरियों के मामले में पुलिस खाली हाथ है। हालांकि पुलिस अभी भी सीसीटीवी से पहचान निकालने के प्रयास में लगी है।

वहीं, दक्षिण दिल्ली के कोटला मुबारकपुर थाने से एक संदिग्ध चोर के भागने की भी घटना सामने आई। हालांकि उसे कुछ दूर बाद ही पकड़ लिया गया। चोर को बीते दिनों ही पकड़ा गया था। थाने से भाग रहे चोर को पकड़वाने में अंदर ही बंद अन्य ने शोर मचाकर पुलिस की मदद की। चोर के इस दुस्साहस से पुलिस भी सकते में आ गई। लेकिन पुलिस के आलाधिकारी ऐसी किसी भी घटना से साफ इनकार कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 चार साल पहले भागकर ISIS के जिहादी की तीसरी पत्‍नी बनी, अब लौटना चाहती है लड़की
2 तिरुपति के मंदिर से चोरी हुआ हीरे जड़ा मुकुट, मचा हड़कंप
3 देहरादून: होटल समझ थाने पहुंच गया शराबी डॉक्‍टर, कमरा न मिला तो करने लगा बवाल