ताज़ा खबर
 

महिला की 9 गोलियां मारकर हत्या की, फिर हेल्मेट से कुचल दिया सिर!

घटना को लेकर शुरुआती तौर पर पुलिस अधिकारियों का मानना है कि इस महिला की हत्या गैंगस्टर मोनू और मेन्टल के बीच रंजिश का हिस्सा हो सकता है। इस मामले में पुलिस को सबसे ज्यादा शक गैंगस्टर संदीप ढिल्लू पर है।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (Source- freepik)

दिल्ली में 45 साल की एक महिला की गोली मार कर हत्या कर दी गई। यह घटना दक्षिणी पश्चिम दिल्ली के पोचनपुर गांव की है। जानकारी के मुताबिक दो लोगों ने मिलकर इस महिला को 9 गोलियां मारी और उसके बाद वहां से फरार होने से पहले इन लोगों ने महिला का सिर हेल्मेट से बुरी तरह कुचल दिया। बीते सोमवार को इस हत्याकांड को महिला के घर पर ही अंजाम दिया गया है। इस मामले में द्वारका के डीसीपी एंटो अलफांसो ने द टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि महिला की पहचान कमलेश शेहरावत के रुप में हुई है। घटना से थोड़ी देर पहले उनका 20 साल का बेटा कॉलेज के लिए निकल गया था।

घटना के वक्त घर में मौजूद नौकरानी के मुताबिक कमलेश शेहरावत का घर ग्राउंड फ्लोर पर ही है और वारदात से चंद मिनट पहले वो शेहरावत के के लिए नाश्ता तैयार कर रही थी। सुबह करीब 10 बजे घर के पास एक मोटरसाइकिल आकर रुकी। इसके बाद हेल्मेट पहने हुए दो शख्स घर में आए और उन्होंने शेहरावत पर ताबड़तोड़ कई गोलियां बरसानी शुरू कर दी। इसके बाद इनमे से एक शख्स ने अपना हेल्मेट निकाल कर शेहरवात के सिर पर हेल्मेट से कई वार किये।

इधर इस मामले में पड़ोसियों का कहना है कि उन्हें इस घटना की जानकारी तब हुई जब नौकरानी ने घर से बाहर निकलकर लोगों को मदद के लिए बुलाया। इसके बाद वहां लोगों ने तुरंत पुलिस को फोन किया। पुलिस ने इस महिला को अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस की जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि शेहरावत की दोस्ती तिहाड़ जेल में बंद खूंखार गैंगस्टर राजीव इशापुर उर्फ मोनू से थी। मोनू कुख्यात गैंगस्टर संदीप उर्फ मेन्टल और उसके साथी पवन की हत्या का मुख्य आरोपी है। इन दोनों की हत्या इसी साल मई में हुई थी।

घटना को लेकर शुरुआती तौर पर पुलिस अधिकारियों का मानना है कि इस महिला की हत्या गैंगस्टर मोनू और मेन्टल के बीच रंजिश का हिस्सा हो सकता है। इस मामले में पुलिस को सबसे ज्यादा शक गैंगस्टर संदीप ढिल्लू पर है। संदीप बीते 19 फरवरी को पुलिस की आंखों में मिर्च पाउडर झोंक कर फरार हो गया था। जानकारी के मुताबिक मोनू कुछ ही दिनों पहले पैरोल पर बाहर भी आया था और उसने शेहरावत से मुलाकात भी की थी। जब मोनू ने मेन्टल की हत्या की थी तो शेहरावत ने ही उसे सुरक्षा दिया था। बता दें कि शेहरावत के पति राजबीर की साल 2004 में कापसहेरा में हत्या कर दी गई थी। इस मामले में शेहरावत और उसके भाई को गिरफ्तार भी किया गया था और दोनों ने ढाई साल जेल में भी गुजारे थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दो ननों ने कैथलिक स्‍कूल से उड़ाए साढ़े तीन करोड़ रुपए, जुए में लुटा दी रकम
2 चाकू की नोक पर बनाया सेक्स स्लेव, आठ लोगों से संबंध बनाने किया गया मजबूर, मॉडल ने बयां किया दर्द
3 नहीं दिये पैसे तो सनकी बेटे ने मां पर पेट्रोल उड़ेल लगा दी आग
ये पढ़ा क्या?
X