ताज़ा खबर
 

सहेली से मुहब्बत करती थी युवती, घरवालों ने विरोध किया तो प्रेमिका के भाई व दोस्त पर दर्ज करा दिया गैंगरेप का झूठा केस

24 साल की एक युवती ने अपनी सहेली के भाई व उसके दोस्त पर बेहरमी से पीटने और गैंगरेप करने का आरोप लगाया था। जांच में सामने आया कि युवती और उसकी सहेली के बीच समलैंगिक संबंध हैं।

Author बरेली | May 26, 2019 7:06 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

बरेली में समलैंगिक संबंधों को लेकर एक ऐसा मामला सामने आया, जिसने पुलिस को भी हैरान कर दिया। दरअसल, यहां रहने वाली 24 साल की एक युवती ने अपनी सहेली के भाई व उसके दोस्त पर बेहरमी से पीटने और गैंगरेप करने का आरोप लगाया था। जांच में सामने आया कि युवती और उसकी सहेली के बीच समलैंगिक संबंध हैं। दोनों के परिजनों ने उनकी मुलाकात पर रोक लगाई तो युवती ने झूठा केस दर्ज करा दिया। इस मामले में पुलिस ने आरोपी युवती के पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 6 सितंबर 2018 को एक फैसले में समलैंगिक संबंधों को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया था। हालांकि, काफी परिवार अब भी इन संबंधों को स्वीकार नहीं कर पाते हैं। ऐसा ही किस्सा बरेली की रहने वाली 24 साल की प्रीति और 19 साल की कृष्णा (दोनों परिवर्तित नाम) का है। जानकारी के मुताबिक, प्रीति एक सिंगर है और 2017 में एक टूर के दौरान उसकी मुलाकात कृष्णा से हुई थी। ऐसे में दोनों एक-दूसरे के संपर्क में आईं और आपस में मुहब्बत करने लगीं। वहीं, कुछ समय बाद प्रीति कृष्णा को अपने घर ले गइ। हालांकि, कृष्णा के परिजनों को इस रिश्ते और पूरे मामले की जानकारी ही नहीं दी। उनका मानना था कि दोनों युवतियां आपस में दोस्त हैं।

National Hindi News, 26 May 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

कुछ समय बाद 20 अप्रैल 2019 को प्रीति और कृष्णा ने गांव के बाहर एक मंदिर में शादी कर ली। उस दौरान प्रीति के पिता व एक पुजारी मौजूद थे। 19 मई को कृष्णा के भाई कुमार (परिवर्तित नाम) को किसी तरह इस मामले की जानकारी हो गई। उसे पता चला कि प्रीति और कृष्णा ने शादी कर ली है। वे दोनों कहीं दूसरी जगह शिफ्ट होने की कोशिश कर रही हैं। कुमार ने परिजनों को इसकी जानकारी दी। आरोपी है कि उस दौरान दोनों युवतियों को पीटा गया। वहीं, प्रीति को घर छोड़ने के लिए कहा गया। इस घटना के बाद प्रीति ने कृष्णा से कई बार कॉल की, लेकिन परिजनों ने उसे बात नहीं करने दी।

22 मई को प्रीति के पिता हाफिजगंज थाने पहुंचे और उन्होंने कुमार पर उनकी बेटी को बेरहमी से पीटने का आरोप लगाया। वहीं, मेडिकल जांच के दौरान प्रीति ने आरोप लगाया कि कुमार ने अपने दोस्त के साथ मिलकर उसका गैंगरेप भी किया। हाफिजगंज के थाना प्रभारी सौरभ सिंह को मामले का पता चला तो उन्होंने प्रीति का बयान दर्ज करने की कोशिश की, लेकिन वह बार-बार बयान बदलती रही। हालांकि, पूछताछ के दौरान प्रीति ने कबूल कर लिया कि कृष्णा को वापस पाने के लिए उसने झूठा केस दर्ज कराया था।

असल मामले का खुलासा होने पर पुलिस ने प्रीति और कृष्णा दोनों के परिजनों को थाने बुलाया, जहां कृष्णा ने प्रीति के साथ रहने की बात कही। ऐसे में कृष्णा के परिवार ने उनके रिश्ते को कबूल कर लिया। हालांकि, पुलिस ने झूठी सूचना देने के आरोप में प्रीति के पिता को गिरफ्तार कर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X