ताज़ा खबर
 

यह है देश की पहली सीरियल किलर, हमदर्दी का नाटक कर अमीर महिलाओं का करती थी कत्ल

47 वर्षीय मल्लिका को पुलिस ने 31 दिसंबर साल 2007 में बैंग्लोर से गिरफ्तार किया था।

सीरियल किलर साइनाइड मल्लिका।(फोटो सोर्स- यूट्यूब)

इतिहास में ऐसी कई सीरियल किलिंग की घटनाएं हुई हैं जिनके बारे में जानकर आज भी लोग सिहर जाते हैं। आज हम आपको ऐसे ही सीरियल किलर के बारे में बता रहे हैं जिसने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी थी। हम बात कर रहे हैं सीरियल किलर मल्लिका की, जिसे लोग साइनाइड मल्लिका भी कहते हैं। मल्लिका को भारत की पहली सीरियल किलर भी माना जाता है। यह महिला अक्सर अमीर महिलाओं को अपना शिकार बनाती थी। अमीर महिलाओं को मारने से पहले यह उनके साथ हमदर्दी का नाटक करती और उन्हें अपने जाल में फंसाती थी।

साइनाइड मल्लिका ने बैंग्लोर की रहने वाली है, जिसका असल नाम केजी केंपम्मा है। इस महिला का नाम साइनाइड मल्लिका इसलिए पड़ा क्योंकि यह महिलओं को साइनाइड खिलाकर मौत के घाट उतार देती थी। ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक सीरियल किलर साइनाइड मल्लिका ने साल 1999 से 2007 तक करीब 5 महिलाओं को साइनाइड खिलाकर कर मार दिया था।

मल्लिका अपने आप को एक गुरू की तरह महिलाओं के सामने पेश करती थी। यह सीरियल किलर महिलाओं की समस्याएं दूर करने के लिए हवन-पूजन का झांसा देकर उन्हें घर से दूर सुनसान जगह वाले मंदिर में बुलाती थी और खाने में साइनाइड देकर मार देती थी। महिलाओं का कत्ल करने के बाद उनके गहने चुरा लेती थी।

47 वर्षीय मल्लिका को पुलिस ने 31 दिसंबर साल 2007 में बैंग्लोर से गिरफ्तार किया था। पुलिस के सामने मल्लिका ने 5 मर्डर की बात कबूल करते हुए वारदातों की पूरी कहानी शुरू से बताई थी। कहा जाता है कि साइनाइड मल्लिका को एक वारदात से करीब 30,000 रुपये तक मिल ही जाते थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मल्लिका अपने परिवार से अलग रहती थी और अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के साथ-साथ चिट फंड का भी काम करती थी। मल्लिका को अप्रैल, 2012 को 5 महिलाओं के मर्डर का दोषी पाते हुए मौत की सजा सुनाई थी लेकिन उसी साल अगस्त महीने में कर्नाटक हाई कोर्ट ने उसकी सजा को उम्रकैद में बदल दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App