ताज़ा खबर
 

‘डोसा किंग’ कहती है इसे दुनिया, प्रेमिका के पति को मारकर अब काट रहा उम्रकैद

यह मामला 2001 का है, जब अदालत के दस्तावेजों के अनुसार, राजगोपाल ने एक कर्मचारी की शादीशुदा 21 वर्षीय बेटी को अपनी तीसरी पत्नी बनने की कोशिश की थी।

Author नई दिल्ली | July 12, 2019 5:35 PM
‘डोसा किंग’ कहती है इसे दुनिया, प्रेमिका के पति को मारकर अब काट रहा उम्रकैद

डोसा किंग के नाम से मशहूर रेस्टोरेंट टाइकून के मालिक एक महिला के पति की हत्या के आरोप में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। दरअसल पी. राजगोपाल को उसकी प्रेमिका के पति के अपहरण और हत्या के मामले में दोषी ठहराया गया था। राजगोपाल हत्या के मामले में दोषी ठहराए जाने के 15 साल बाद भी उस महिला से शादी करना चाह रहा है। यह मामला 2001 का है, जब अदालत के दस्तावेजों के अनुसार, राजगोपाल ने एक कर्मचारी की शादीशुदा 21 वर्षीय बेटी को अपनी तीसरी पत्नी बनने की कोशिश की थी। राजगोपाल ने महिला को महंगे उपहार दिए और उसके पति के बारे में झूठी कहानियां सुनाईं। जिसमें राजगोपाल ने महिला को उसके पति को एचआईवी होने की भी बात कही।

सितंबर 2001 में दोनों ने अगल घर लेने का फैसला किया। इससे पहले कि वे निकलते, राजगोपाल और कुछ लोगों द्वारा उस दंपत्ति का अपहरण कर लिया गया। इस घटना में दंपति बच गए, लेकिन बाद में युवती के पति की हत्या के लिए राजगोपाल ने एक व्यक्ति को काम पर रखा। कुछ दिनों के बाद उस व्यक्ति का डेड बॉडी तमिलनाडु के एक जंगल में मिला था। बताया जा रहा है कि उसकी गला दबाकर हत्या की गई है। बता दें कि 2004 में हत्या के आरोप में राजगोपाल को 10 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी। हालांकि राजगोपाल को अपने बिजनेस में अधिक नुकसान नहीं हुआ और अब यह दुनिया भर में 80वें स्थान पर है।

2009 में राजगोपाल की सजा को उम्रकैद तक बढ़ा दिया गया था। इस बीच राजगोपाल कई बार जमानत पर रिहा भी हुए। इस मामले में राजगोपाल के उम्रकैद सजा की पुष्टि सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल मार्च में की थी। राजगोपाल के वकील ऐश्वर्या भाटी ने कहा, “हमने अंतिम अपील पिछले हफ्ते दायर की और उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को इसे खारिज कर दिया। उन्होंने (राजगोपाल) कल चेन्नई के स्थानीय ट्रायल कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया।” भाटी ने कहा कि राजगोपाल का स्वास्थ्य खराब है। उसे केवल तभी जेल से रिहा किया जाएगा जब इस बारे में अधिकारियों को पता चलेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App