ताज़ा खबर
 

हेलीकॉप्टर, ड्रोन और 350 लोगों की ली गई मदद, जंगल में नंगी हालत में मिला नाबालिग का शव

बच्ची का शव मिलने के बाद उसका परिवार काफी दुखी है। परिवार वालों ने बताया कि 10 साल की यह मासूम इस उम्र के दूसरे बच्चों की तुलना में दिमागी रुप से कम विकसित थी।

Author August 14, 2019 12:40 PM
बच्ची को तलाशने के लिए खोजी कुत्तों की मदद ली जा रही थी। प्रतीकात्मक तस्वीर।

हेलीकॉप्टर, ड्रोन और 350 लोग एक नाबालिग बच्ची की तलाश में दिन-रात जुटे थे। लेकिन बड़े पैमाने पर तलाशी के बाद भी लोगों को मिली तो सिर्फ बच्ची की लाश और वो भी नंग-धड़ंग हालत में। यह आईरिश बच्ची मलेशिया के एक रिजॉर्ट से लापता हो गई थी। करीब 10 दिनों तक चले जबरदस्त तलाशी अभियान के बाद बीते मंगलवार (13 अगस्त, 2019) को बच्ची का शव एक घने जंगल में बुरी हालत में मिला।

हेलीकॉप्टर के जरिए बच्ची के शव को जंगल से निकाल कर अस्पताल तक पहुंचाया गया। बाद में उसके परिजनों ने उसकी पहचान की। घटना के बारे में जो जानकारी अब तक मिल पाई है उसके मुताबिक यह बच्ची 4 अगस्त को दुसन रिसॉर्ट से लापता हुई थी। यह रिसॉर्ट कुआलालामपुर से ज्यादा दूर नहीं है। यह बच्ची लंदन की रहने वाली थी और यहां अपने परिवार के साथ छुट्टियां मनाने आई हुई थी।

लड़की के घरवालों ने पुलिस के सामने अंदेशा जताया था कि उनकी बेटी का अपहरण हुआ है हालांकि पुलिस इसे गुमशुदगी का मामला मान कर चल रही थी। रिसॉर्ट से थोड़ी दूर स्थित घने जंगलों में बच्ची को तलाशने के लिए 350 से ज्यादा लोगों को लगाया गया था। इन सभी को हेलीकॉप्टर, ड्रोन और खोजी कुत्तों के जरिए मदद भी दी जा रही थी। बच्ची के सही-सलामत वापसी के लिए स्थानीय लोगों ने पूजा-पाठ भी की थी।

लेकिन मासूम बच्ची मृत हालत में रिसॉर्ट से करीब ढाई किलोमीटर दूर मिली। मलेशिया के डिप्टी नेशनल पुलिस चीफ मजलान मंसोर ने इस बात की जानकारी एक प्रेस कॉनफ्रेंस में दी। उन्होंने बताया कि बच्ची के शरीर पर एक भी कपड़े नहीं थे। उन्होंने बताया कि बच्ची के शरीर पर एक भी घाव या जख्म दिए जाने के कोई निशान नहीं मिले हैं। इससे पहले बच्ची के परिवार वालों ने बच्ची के बारे में बताने वाले को 11,900 डॉलर देने का ऐलान किया था। इसके बाद एक स्थानीय युवक ने पुलिस को बच्ची के बारे में जानकारी दी।

बच्ची का शव मिलने के बाद उसका परिवार काफी दुखी है। परिवार वालों ने बताया कि 10 साल की यह मासूम इस उम्र के दूसरे बच्चों की तुलना में दिमागी रुप से कम विकसित थी। वो काफी कम बातचीत करती थी और कुछ शब्दों से ज्यादा लिख भी नहीं पाती थी। बहरहाल अब इस मामले में पुलिस गुमशुदगी के केस के आधार पर ही आगे की जांच कर रही है। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App