ताज़ा खबर
 

आंख में मिर्च झोंक पत्‍थर से कूच देता था सिर, 16 साल में 12 हत्‍याएं कीं, पकड़ा गया सीरियल किलर

16 साल की उम्र में किया था पहला मर्डर। तेलंगाना पुलिस ने गिरफ्तार किया मोहम्मद यूसुफ उर्फ ​​पाशा नाम का सीरियल किलर। यूसुफ ने पुलिस को बताया उसने 12 हत्‍याएं की हैं इसके अलावा उसने तीन मोटरसाइकिल भी चुराई हैं। पूछताछ के दौरान यूसुफ ने एक घर में चोरी करने की बात भी कबूली है।

16 साल की उम्र में किया था पहला मर्डर। तेलंगाना पुलिस ने गिरफ्तार किया मोहम्मद यूसुफ उर्फ ​​पाशा नाम का सीरियल किलर। (pc- indian express)

16 साल की उम्र में पहली हत्या करने वाला मोहम्मद यूसुफ उर्फ ​​पाशा नाम के एक सीरियल किलर को तेलंगाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 32 साल के विकाराबाद के इस सीरियल किलर ने अब तक 12 लोगों की हत्या की है। बुधवार को महबूबनगर जिले के नवाबपेट मंडल में एक स्कूल सफाईकर्मी की हत्या की जांच करते समय पुलिस ने यूसुफ पर झपट्टा मारा।

यूसुफ पहले नकद ले जाने वाले व्यक्ति को ढूंढता था और उसके साथ बातचीत करने की कोशिश करता था। यूसुफ अपने आप को एक पेंटर बताता था और उस व्यक्ति को सोने के सिक्कों का खजाना दिखाने या कम कीमत पर कुछ बेचने का आश्वासन देकर किसी सुनसान इलाके में ले जाता था। जैसे ही शख्स घटनास्थल पर पहुंच जाता था। वह उसकी आंखों में मिर्च पाउडर डाल अंधा कर देता था। उसके बाद किसी भारी पत्थर से उसका सर कुचलकर मार देता था और उनके गहने, नकदी और मोबाइल फोन लूट लेता था।

अधिकारियों ने कहा कि यूसुफ इमली का एक छोटा व्यापारी था। उसकी दो पत्नियां हैं और वह अपना पैसा सेक्स वर्कर और परिजनों पर खर्च करता था। उसके द्वारा मारे गए तीन शख्स उन महिलाओं के पति थे जिनके साथ उसके संबंध थे। 2017 में उसे विकाराबाद जिला पुलिस ने एक हत्या के मामले में गिरफ्तार किया था। लेकिन बाद में उसे जमानत पर छोड़ दिया गया। महबूबनगर के पुलिस अधीक्षक रेमा राजेश्वरी का कहना है कि जब वह विकाराबाद पुलिस की हिरासत में था। तब उन्होंने किसी भी हत्या को कबूल नहीं किया। 9 फरवरी को महबूबनगर के स्कूल के स्वीपर बलराज (52) का शव एक जंगल में मिला। पुलिस ने कहा कि यूसुफ ने बलराज को बताया कि वह किसी ऐसे व्यक्ति को जानता है जो भेड़ और बकरियों को सस्ते दाम पर बेचने को तैयार है और उसने बलराज को नकदी के साथ वहां जाने के लिए मना लिया। वह उसे नवापबेट मंडल के पास सुनसान जंगल में ले गया। जहां उसने बलराज पर मिर्च पाउडर से हमला किया। जब सफाई कर्मचारी नीचे गिर गया, तो उसने उसे मौत के घाट उतार दिया। यूसुफ 14,000 रुपए नकद और बलराज का मोबाइल फोन लेकर फरार हो गया।

नवाबपेट पुलिस स्टेशन के सब-इंस्पेक्टर शिवा कुमार ने कहा “पुलिस के पास कई दिनों तक हत्यारे के बारे में कोई सुराग नहीं था लेकिन उसने बलराज के मोबाइल फोन के IMEI नंबर को निगरानी में रखा था। यूसुफ ने हाल ही में बलराज का चुराया हुआ मोबाइल फ़ोन चालू किया और अपना सिम कार्ड डाला। जिसके बाद पुलिस को उसकी लोकेशन मिली। शुरुआत में उसने केवल तीन हत्याएं कबूलीं- बलराज की और दो अन्य विकाराबाद में जो उसने की थीं। लेकिन निरंतर पूछताछ के तहत उसने और लोगों को मारने की बात कबूल की।” यूसुफ ने पुलिस को बताया उसने 16 हत्‍याएं की हैं इसके अलावा उसने तीन मोटरसाइकिल भी चुराई हैं। पूछताछ के दौरान यूसुफ ने एक घर में चोरी करने की बात भी कबूली है।

Next Stories
1 बलात्कार कर महिला को लगा दी आग, पीड़िता ने ऐसा पकड़ा कि जलकर मर गया!
2 रजनीकांत, कमल हासन की थी फेवरेट, बुरी हालत में सड़क पर मिली तो बदन पर रेंग रहे थे कीड़े
3 ‘मोटा’ कहकर चिढ़ाता था, भाई ने कैची से गोदकर कर दी हत्या
ये पढ़ा क्या?
X