ताज़ा खबर
 

आंध्र प्रदेश: TDP विधायक औऱ पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू के करीबी गिरफ्तार, ESI में भ्रष्टाचार का आरोप

Andhra Pradesh, TDP MLA Arrested IN ESI Medicine Scam: किंचरापु अच्चेनायडू पर आरोप है कि उन्होंने Insurance Medical Services के निदेशकों को आदेश दिया है कि वो हैदराबाद आधारित एक फर्म को ही दवाई खरीदने का कॉन्ट्रैक्ट दें।

crime, crime news, tdpपार्टी विधायक की गिरफ्तारी के बाद पूर्व सीएम ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। फोटो क्रेडिट- नरेंद्र कुमार

Andhra Pradesh, TDP MLA Arrested IN ESI Medicine Scam: तेलुगु देशम पार्टी (TDP) के MLA और पार्टी चीफ एन चंद्रबाबू नायडू के करीबी कहे जाने वाले किंचरापु अच्चेनायडू को एंटी करप्शन ब्यूरो ने शुक्रवार (12-06-2020) की सुबह गिरफ्तार कर लिया। किंचरापु अच्चेनायडू को श्रीकाकुलम जिले के टेक्काली में स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो टीडीपी विधायक को गिरफ्तार करने के लिए 100 पुलिस वालों की एक टीम गई थी। किंचरापु अच्चेनायडू की गिरफ्तारी ESI अस्पतालों में दवाओं की खरीद में हुए भ्रष्टाचार के मामले में की गई है।

किंचरापु अच्चेनायडू टीडीपी सरकार में श्रम मंत्री भी रह चुके हैं। पिछले साल मई में सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री Y S Jagan Mohan Reddy ने इस मामले में जांच के आदेश दिये थे। अपने आदेश में सीएम ने कहा था कि पिछली टीडीपी सरकार द्वारा ईएसआई अस्पतालों के लिए दवाओं की खरीद की जांच एंटी करप्शन ब्यूरो से कराई जाए।

यह है आरोप: ‘Indian Express’ ने अपनी रिपोर्ट में ACB के सूत्रों के हवाले से बताया है कि किंचरापु अच्चेनायडू पर आरोप है कि उन्होंने Insurance Medical Services के निदेशकों को आदेश दिया है कि वो हैदराबाद आधारित एक फर्म को ही दवाई खरीदने का कॉन्ट्रैक्ट दें। इसके बाद निदेशकों ने बिना टेंडर निकाले ही इस फर्म को काम सौंप दिया। फर्म पर आरोप है कि उसने एग्रीमेंट के मानदंडों का उल्लंघन किया।

तीन निदेशक भी फंसे: आपको बता दें कि आंध्र प्रदेश में 4 ESI अस्पताल, 3 ESI Diagnostic केंद्र और 78 ESI Dispensaries हैं। एसीबी का कहना है कि पिछले पांच सालों में तीन लोगों ने Insurance Medical Services के निदेशक के तौर पर काम किया है। इनमें डॉक्टर बी रवि कुमार, डॉक्टर सी के रमेश औऱ डॉक्टर जी विजय कुमार शामिल हैं।

इन तीनों ने करीब 975.79 करोड़ रुपए के मेडिकल इक्वीपमेंट, सर्जरी में इस्तेमाल होने वाले चिकित्सिय सामान, लैब किट्स, फर्नीचर औऱ दवा की खरीदारी के आदेश दिये। इस दौरान जरुरी नियमों और गाइडलान को ताक पर ऱख दिया गया। इन तीनों ने यह खरीदारी बिना Drug Procurement Committee से संपर्क किये और बिना टेंडर निकाले ही करवाए। इससे राज्स्व की हानि हुई है।

एसीबी का कहना है कि टीडीपी विधायक ने एक निदेशक सी के रमेश कुमार से कहा कि खरीदारी के आदेश हैदराबाद आधारित कंपनी M/s.Tele Health Services Pvt., Ltd को ही दिया जाए बिना कोई टेंडर निकाले।

‘किंचरापु अच्चेनायडू को किडनैप किया’: इधर पार्टी विधायक की गिरफ्तारी अहले सुबह किये जाने के बाद पूर्व सीएम एन चंद्रबाबू नायडू ने इसपर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने पुलिस के बर्ताव की निंदा करते हुए कहा कि ’50 साल के बुजुर्ग विधायक को इतनी सुबह गिरफ्तार किया गया। किंचरापु अच्चेनायडू को किडनैप कर लिया। यह राजनीतिक साजिश है। जिस तरह से पुलिस ने व्यवहार किया है उसे देखते हुए गृहमंत्री को इस्तीफा देना चाहिए।’

नहीं किया कोई गैरकानूनी काम: टीडीपी के एक अन्य नेता B Umamaheshwara Rao ने कहा कि ‘एसीबी ने कहा है कि किंचरापु अच्चेनायडू ने हैदराबाद की एक कंपनी का फेवर किया है। लेकिन कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट दिये जाने को लेकर किंचरापु अच्चेनायडू ने जो आग्रह किया था वो बातचीत के बाद ही हुई थी और यह उनके लेटरहेड पर है और इसके लिए सारी जरुरी कागजी कार्रवाई की गई थी। अगर यह गैरकानूनी होता तो वो ऐसा क्यों करते।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जम्मू-कश्मीर में जिंदा पकड़ा गया लश्कर का आतंकी, हथियार और विस्फोटक बरामद
2 अल्कोहल वाले सेनेटाइज़र से मस्जिद नापाक न होने देंगे- उलेमा का ऐलान, मौलाना बोले- दवा वाला अल्कोहल पाक होता है
3 हैदराबाद: अस्पताल में कोरोना मरीज की मौत के बाद चिकित्सकों से मारपीट, धरने पर बैठे डॉक्टर; पुलिस से धक्का-मुक्की
ये पढ़ा क्या?
X