scorecardresearch

जानिए उस खौफनाक लुटेरे की कहानी जिसे टाटा स्टील चेस मीट में बुलाने से हो गया बवाल

David Toska को साल 2004 में हुई नार्वे के इतिहास की सबसे बड़ी बैंक डकैती का मास्टरमाइंड बताया गया था।

david toska, norway, bank robber, tata steel chess meet
कुख्यात लुटेरा डेविड टोस्का। (Photo Credit – Twitter/@chess24com)

नार्वे के विज्क आन ज़ी में जारी टाटा स्टील शतरंज (Chess) टूर्नामेंट उस समय विवादों में घिर गया, जब इवेंट ब्रॉडकास्टर्स ने देश के कुख्यात लुटेरे डेविड टोस्का को एक शो में पैनेलिस्ट के रूप में बुला लिया। 14 जनवरी से 30 जनवरी तक जारी रहने वाले इस चेस टूर्नामेंट में दुनिया भर में मशहूर व नंबर एक खिलाड़ी मैग्नस कार्लसन सहित कई बड़े खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं।

इस वजह से हुआ बवाल: Chess24 वेबसाइट के मुताबिक, नार्वे में खेले जा रहे चेस टूर्नामेंट में इवेंट ब्रॉडकास्टर्स ने कुख्यात अपराधी डेविड टोस्का को TV 2 के एक शो में बतौर पैनेलिस्ट आमंत्रित किया गया था। लेकिन इस विवादस्पद कदम के कुछ घंटों बाद ही एक प्रायोजक (Sponsor) ने टूर्नामेंट से हाथ पीछे खींच लिया। ऐसे में प्रायोजकों व शतरंज खेल से जुड़े लोगों की नाराजगी के चलते डेविड टोस्का को पैनल से हटा दिया गया।

इवेंट ब्रॉडकास्टर्स ने दी सफाई: जानकारी के मुताबिक, डेविड टोस्का TV 2 स्टूडियो में शो होस्ट फिन ग्रैंट और कमेंटेटर हेइडी रेनिड, जॉन हैमर के साथ कमेंट्री करने वाला था। वहीं, जब मामला काफी बढ़ गया तो ब्रॉडकास्टिंग टीम के मुख्य खेल संपादक (Chief Sports Editor) वेगर जेंसन हेगन के हवाले से कहा गया कि हमने पैनेलिस्ट को बुलाने के लिए कई लोगों से प्रतिक्रिया मांगी थी, जिसमें डेविड टोस्का का नाम भी सुझाया गया था।

कौन है डेविड टोस्का: साल 2004 में नार्वे के स्टवांगर में हुई ‘नोकास बैंक डकैती’ (Nokas bank robbery) के पीछे डेविड टोस्का को ही “मास्टरमाइंड” बताया गया था। यह नार्वे के इतिहास की सबसे बड़ी बैंक डकैती मानी जाती है। इस डकैती के एक साल बाद डेविड टोस्का को स्पेन से गिरफ्तार किया गया था। बैंक डकैती के मामले में टोस्का को 20 साल की सजा सुनाई गई थी और 13 साल की सजा काटने के बाद उसे जेल से रिहा कर दिया गया था। फिलहाल वह एक प्रोग्रामर की नौकरी करता है और अपनी बेटी के साथ रहता है।

कभी शतरंज का खिलाड़ी था टोस्का: कुख्यात लुटेरा डेविड टोस्का शतरंज का बड़ा प्रशंसक रहा है। किशोरावस्था में डेविड खुद भी एक बेहतरीन शतरंज खिलाड़ी था और अंडर -14 प्रतियोगिता में उसे चौथा स्थान प्राप्त हुआ था। हालांकि, जेल में रहते हुए मशहूर शतरंज खिलाड़ी मैग्नस कार्लसन (Magnus Carlsen) से प्रभावित होकर एक बार फिर से चेस में हाथ आजमाने लगा था। बैंक डकैती मामले में साल 2018 में डेविड टोस्का को जेल से रिहा किया गया, इसके एक साल बाद टोस्का को होविक में फिशर रैंडम विश्व चैंपियनशिप के दौरान देखा गया था।

पूरे मामले पर क्या बोला डेविड: डेविड टोस्का (David Toska) को पैनेलिस्ट के तौर पर बुलाए जाने के बाद शतरंज खेल से जुड़े कई लोगों ने प्रतिक्रियाएं दी। कमेंटेटर लीफ वेल्हेवेन ने कहा कि एक कुख्यात अपराधी को किसी सेलिब्रिटी के तौर पर पेश किया गया। वहीं टोस्का ने इस पूरे मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, मुझे मालूम था कि इस तरह की नकारात्मक टिप्पणियों का सामना उसे करना पड़ेगा, लेकिन वह इस सबके लिए तैयार था।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट