तमिलनाडुः तलवार ले टीवी चैनल के दफ्तर पहुंचा शख्स, किया सब कुछ तहस-नहस, डीएल से पहचान होने पर अरेस्ट

चैनल का दावा है कि उसने छह महीने पहले एक ऑनलाइन वेबसाइट से हथियार मंगवाए थे और चैनल के निदेशक पर हमला करने के लिए लंबे समय से इंतजार कर रहा था। जिस कार में वह आया था उस पर गुजरात का रजिस्ट्रेशन नंबर था।

Attack in news channel office
ड्राइविंग लाइसेंस से हमलावर की पहचान 31 वर्षीय राजेश कुमार के रूप में हुई है।(screen grab of the event)

साउथ इंडिया के टीवी न्यूज चैनल ‘सथियाम’ के चेन्नई ऑफिस में मंगलवार शाम सात बजे तलवार और ढाल लिए एक शख्स घुस आया और परिसर में तोड़फोड़ की। ऑफिस में लगे सीसीटीवी फुटेज में वह व्यक्ति वहां मौजूद स्टाफ को धमकाते और वहां रखे कीमती सामानों को नुकसान पहुंचाते दिख रहा है। भागते समय उसका ड्राइविंग लाइसेंस वहीं गिर गया। उससे उसकी पहचान 31 वर्षीय राजेश कुमार के रूप में हुई है। न्यूज चैनल ऑफिस में वह गिटार बैग लेकर दाखिल हुआ था। कुछ मिनट बाद, उसने बैग से हथियार निकाला और उसको लहराने लगा।

Indianexpress.com से बात करते हुए, चैनल के प्रबंध निदेशक, इस्सैक लिविंगस्टोन ने दावा किया कि हमलावर कोयंबटूर के पास उप्पिलिपलायम का मूल निवासी है, लेकिन वह वहां से गुजरात जाकर बस गया था। कहा कि वह उन्हें निशाना बनाना चाहता था और अब खुद को विक्षिप्त बताकर कानून से बचने की कोशिश कर रहा है। सथियाम समाचार चैनल का दावा है कि उसने छह महीने पहले एक ऑनलाइन वेबसाइट से हथियार मंगवाए थे और चैनल के निदेशक पर हमला करने के लिए लंबे समय से इंतजार कर रहा था। जिस कार में वह आया था उस पर गुजरात का रजिस्ट्रेशन नंबर था।

चैनल के डिस्ट्रीब्यूशन एक्जीक्युटिव के मुताबिक “पिछले हफ्ते इसका फोन आया था। उसने फोन पर धमकी दी थी कि वह प्रबंध निदेशक को मार डालेगा और चैनल को तोड़ देगा। उसकी कॉल रिकॉर्डिंग को चैनल के सीईओ के पास भेज दिया गया। मंगलवार को सीईओ परिसर से निकलने वाले थे और कार पार्किंग का गेट जैसे खोला गया, वह आदमी गेट से परिसर में दाखिल हो गया। उसके हाथ में एक गिटार बैग था। सिक्युरिटी गार्ड्स ने समझा कि वह एक संगीतकार है, इसलिए किसी ने उसे नहीं रोका।

चैनल के प्रबंध निदेशक लिविंगस्टोन ने कहा “एक बार जब वह रिसेप्शन एरिया में पहुंच गया तो उसने स्टाफ से मेरे बारे में पूछा और कहा था कि वह मेरी छाती को तलवार से छेद देगा और उसके बाद निकल जाएगा। इससे स्टाफ डर गए। हमलावर शख्स ने वहां पर टीवी, टेलीफोन, कंप्यूटर, कांच की मेज पर हमला करना शुरू कर दिया। तोड़फोड़ का सिलसिला करीब 45 मिनट तक सिलसिला चलता रहा।”

इस बीच सूचना पर पुलिस पहुंची और उसे गिरफ्तार कर ली। उसने पुलिस से कहा कि वह मानसिक रूप से बीमार है, लेकिन पुलिस का दावा है कि वह झूठ बोल रहा है। वह लंबे समय से इस ऑपरेशन की योजना बना रहा था। वह सड़क मार्ग से नई दिल्ली से चेन्नई पहुंचा था, मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति इतनी सावधानी से इन सभी चीजों की योजना नहीं बना सकता है। पुलिस ने उसे रिमांड पर लेकर जांच कर रही है।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट